ताज़ा खबर
 

नन रेप केस: हाई कोर्ट ने बिशप फ्रैंको मुलक्‍कल को दी सशर्त जमानत, केरल में नहीं घुस सकेंगे

जमानत देते हुए कोर्ट ने कहा कि बिशप केरल में दाखिल नहीं हो सकेंगे। इसके अलावा उन्हें अपना पासपोर्ट भी कोर्ट में जमा कराना होगा।

Author October 15, 2018 3:17 PM
बिशप फ्रैंको मुलक्कल। (फोटो सोर्स एएनआई)

केरल में नन द्वारा लगाए रेप और यौन शोषण के आरोप में गिरफ्तार किए गए बिशप फ्रैंको मुलक्कल को केरल हाईकोर्ट ने जमानत दे दी है। हालांकि जमानत के साथ कोर्ट ने कई शर्ते भी लागू की है। जमानत देते हुए कोर्ट ने कहा कि बिशप केरल में दाखिल नहीं हो सकेंगे। इसके अलावा उन्हें अपना पासपोर्ट भी कोर्ट में जमा कराना होगा। बता दें कि 6 अक्टूबर को केरल की एक अदालत ने बिशप फ्रैंको मुलक्कल की न्यायिक हिरासत 20 अक्टूबर तक बढ़ा दी थी। उन्हें बिशप को 2014 और 2016 के बीच एक नन के साथ लगातार दुष्कर्म करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। मुलक्कल को इस दौरान पाला न्यायिक दंडाधिकारी की अदालत के न्यायाधीश एम. लक्ष्मी के समक्ष पेश किया गया, जहां उनकी न्यायकि हिरासत दो सप्ताह के लिए बढ़ा दी गई। इससे पहले उन्हें नियमित चिकित्सा जांच के लिए ले जाया गया था। मुलक्कल को तीन दिन तक पूछताछ करने के बाद 21 सितंबर को गिरफ्तार किया गया और 24 सितंबर को इसी अदालत ने उन्हें दो सप्ताह की न्यायिक हिरासत में भेज दिया था।

 

पूरी कार्यवाही करीब पांच मिनट तक चली और उन्होंने अदालत को सूचित किया कि उन्हें पाला उपकारागार में कोई समस्या नहीं है। उन्हें हिरासत के आदेश के बाद से ही यहां पर रखा गया है। हालांकि तब वकील ने मीडिया को सूचित किया कि आगामी सप्ताह में वह जमानत के लिए केरल उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाएंगे।

खास बात यह है कि केरल उच्च न्यायालय ने तीन अक्टूबर को मुलक्कल की जमानत याचिका खारिज कर दी थी, क्योंकि न्यायमूर्ति वी. राजा विजयराघवन ने पाया कि बिशप के खिलाफ सबूत हैं। हालांकि आज यानी 15 अक्टूबर को उन्हें जमानत दे दी गई। (जनसत्ता ऑनलाइन इनपुट सहित)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App