ताज़ा खबर
 

केरल सरकार ने घोषित किया ‘ओणम बम्पर लॉटरी कांटेस्ट’ का रिजल्ट, विजेता को मिलेगा 8 करोड़ रुपये

Kerala Lottery Result: इस लॉटरी कान्टेस्ट में भाग लेने वाले उम्मीदवार www.keralalotteries.info पर विजिट कर लॉटरी रिजल्ट के बारे में जानकारी हासिल कर सकते हैं।
केरल सरकार ने ओणम बम्पर लॉटरी 2016 (BR-51) के लकी ड्रा की घोषणा कर दी है।

केरल सरकार ने ओणम बम्पर लॉटरी 2016 (BR-51) के लकी ड्रा की घोषणा कर दी है। इस लॉटरी के ड्रा की घोषणा तिरुवनंतपुरम के श्री चित्रा होम आॅडिटोरियम में की गई। शुक्रवार शाम 3 बजकर 30 मिनट पर ओणम स्पेशल लॉटरी BR51 के रिजल्ट की घोषणा भी कर दी गई। इस साल का ओणम बम्पर लॉटरी केरल स्टेट लॉटरी डाइरेक्टोरेट द्वारा अब तक का सबसे बड़ा लॉटरी कान्टेस्ट था। इस लॉटरी कान्टेस्ट के विजेता को 8 करोड़ रुपये और दूसरे नंबर पर रहने वाले व्यक्ति को 50 लाख रुपये मिलेगा।

इस लॉटरी कान्टेस्ट में भाग लेने वाले उम्मीदवार www.keralalotteries.info पर विजिट कर लॉटरी रिजल्ट के बारे में जानकारी हासिल कर सकते हैं। ‘Thiruvonam Bumper-2016’ लॉटरी कांटेस्ट की शुरूआत इस साल 20 जुलाई को केरल सरकार के लॉटरी डिपार्टमेंट ने की थी। इस लॉटरी कांन्टेस्ट के लकी ड्रा की घोषणा केरल में ओणम फेस्टिवल के दौरान होनी थी। हर साल ओणम के उपलक्ष्य में राज्य सरकार के लॉटरी डिपार्टमेंट की ओर से आयोजित किए जाने वाले इस लॉटरी कांटेस्ट में इस बार अब तक की सबसे ज्यादा विनर प्राइस मनी रखी गई है। इस लॉटरी कांटेस्ट के विजेता को 8 करोड़ रुपये की प्राइस मनी मिलेगी।

थिरुवोणम बम्पर लॉटरी 2016 की प्राइस मनी इस प्रकार है: इस लॉटरी कांटेस्ट के लिए 5 श्रेणियों TA; TB; TC; TD; TE; TG; TH के तहत टिकट आवंटित किए गए थे। इसके लिए अब तक का सबसे ज्यादा 8 करोड़ रुपये की प्राइस मनी निर्धारित है। गौरतलब है कि ओणम केरल का प्रमुख त्योहार है। पूरे राज्य में इसे धूमधाम से मनाया जाता है। इस पर्व के मौके पर केरल सरकार हर वर्ष लॉटरी कांटेस्ट का आयोजन करती है।

ओणम त्योहार सम्राट महाबली से जु़ड़ा है। यह पर्व उनके सम्मान में मनाया जाता है। लोगों का विश्वास है कि भगवान विष्णु के पाँचवें अवतार ‘वामन’ ने चिंगम मास के इस दिन सम्राट महाबली के राज्य में प्रकट होकर उन्हें पाताललोक भेजा था। माना जाता है कि ओणम पर्व का प्रारंभ संगम काल के दौरान हुआ था। उत्सव से संबंधित अभिलेख कुलसेकरा पेरुमल (800 ईस्वी) के समय से मिलते हैं। उस समय ओणम पर्व पूरे माह चलता था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.