ताज़ा खबर
 

14 लाख की कार खरीदने के लिए कार्यकर्ताओं से चंदा ले रही थीं कांग्रेस की दलित सांसद, अध्यक्ष ने रोका

कार के लिए कांग्रेस कार्यकर्ताओं से चंदा लेने की उनकी योजना पर पार्टी में ही विवाद खड़ा हो गया। पार्टी का ही एक धड़ा इस फैसले के औचित्य पर सवाल उठा रहा था।

Author त्रिवनंतपुरम | July 23, 2019 8:30 AM
हरिदास खेती करने वाले श्रमिकों के परिवार से आती हैं और वह 14 लाख रुपये कीमत वाली कार खरीदना चाहती थीं। वह अपने संसदीय क्षेत्र में आने वाले 1400 बूथों से इसके लिए पैसे इकट्ठा करना चाहती थीं। (Express Photo: Anil Sharma/File)

कांग्रेस सांसद राम्या हरिदास पार्टी कार्यकर्ताओं से चंद लेकर एक मल्टी यूटिलिटी व्हीकल (MUV) खरीदना चाहती थीं। हालांकि, प्रदेश कांग्रेस आलाकमान ने उनकी इस योजना में रोड़ा अटका दिया है। हरिदास खेती करने वाले श्रमिकों के परिवार से आती हैं और वह 14 लाख रुपये कीमत वाली कार खरीदना चाहती थीं। वह अपने संसदीय क्षेत्र में आने वाले 1400 बूथों से इसके लिए पैसे इकट्ठा करना चाहती थीं।

वह चंदे के जरिए पैसे जुटाने की कोशिश में थीं। वह चाहती थीं कि यूथ कांग्रेस के वर्कर कम से कम 1000 रुपये का चंदा दें। बता दें कि हरिदास केरल से निर्वाचित पहली दलित महिला सांसद हैं। हरिदास को लगता था कि उनके वेतन से नई कार खरीदना मुमकिन नहीं हो पाएगा। हालांकि, चुनाव प्रचार के दौरान वह जनता से 67 लाख रुपये इकट्ठा करने में कामयाब हुई थीं।

कार के लिए कांग्रेस कार्यकर्ताओं से चंदा लेने की उनकी योजना पर पार्टी में ही विवाद खड़ा हो गया। पार्टी का ही एक धड़ा इस फैसले के औचित्य पर सवाल उठा रहा था। मामला सामने आने के बाद प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मुल्लापल्ली रामचंद्रन ने कड़ी आपत्ति जताई। इसके बाद हरिदास ने कहा, ‘एक आज्ञाकारी कार्यकर्ता की तरह मैंने पार्टी अध्यक्ष की बातों को दिल में संजो लिया है। जो मुझे प्यार करते हैं, उन्हें शायद मेरा फैसला सही न लगा हो। मैंने अपनी जिंदगी में काफी मुश्किलें झेली हैं। ऐसे मौकों पर जनता ने जो सांत्वना दिया, वही मेरा सहारा था।’

वहीं, पार्टी प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि हरिदास के फैसले का पार्टी कार्यकर्ता स्वागत करेंगे। उन्होंने कहा कि हरिदास ने गांधी जी के मूल्यों से प्रभावित होकर सार्वजनिक जीवन में आने का फैसला किया था। हर कांग्रेस कार्यकर्ता को यह ध्यान रखना चाहिए कि वह सच्चाई का साथ न छोड़े।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App