ताज़ा खबर
 

मानहानि केस में ऐसे ही नहीं झुके अरविंद केजरीवाल, महीनों से चल रही थी गुपचुप बातचीत

आम आदमी पार्टी मुखिया अरविंद केजरीवाल ने यूं ही नहीं शिरोमणि अकाली दल नेता विक्रम सिंह मजीठिया से माफी मांगी। इसके पीछे महीनों से हो रही गुपचुप बातचीत है। जिसके बाद अरविंद केजरीवाल ने माफी मांगने का फैसला लिया।

Author नई दिल्ली | March 18, 2018 6:31 PM
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल। (एक्सप्रेस फोटोः अमित मेहरा)

आम आदमी पार्टी मुखिया अरविंद केजरीवाल ने यूं ही नहीं शिरोमणि अकाली दल नेता विक्रम सिंह मजीठिया से माफी मांगी। इसके पीछे महीनों से हो रही गुपचुप बातचीत है। जिसके बाद अरविंद केजरीवाल ने माफी मांगने का फैसला लिया।वार्ता के दौरान आम आदमी पार्टी मुखिया केजरीवाल ने शिरोमणि अकाली दल नेतृत्व को आश्वस्त किया कि माफी के फैसले पर वे अपनी पार्टी के सभी नेताओं को एक राय करेंगे। उधर अरविंद केजरीवाल के इस फैसले के बाद पार्टी के अंदरखाने विद्रोह की स्थिति सामने आ रही है। द प्रिंट की रिपोर्ट के मुताबिक दोनों दलों के बीच पिछले दरवाजे कई दफा बातचीत हुई।  आम आदमी पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने केजरीवाल की ओर से मजीठिया से संपर्क किया। जिसके बाद माफी की पेशकश हुई। दिल्ली और चंडीगढ़ में कम से कम दो मौकौं पर केजरीवाल और मजीठिया की मीटिंग हुई।

सूत्र बताते हैं कि पहले केजरीवाल ने मजीठिया से कहा कि राजनीतिक वजहों से ऐसी बातें बोलनी पड़ी। मगर मजीठिया ने कहा कि वे बातें बहुत गंभीर थीं, जिसमें ड्रग्स कारोबार मे हाथ बताया गया। ये उनकी छवि धूमिल करने के लिए गढ़ गए थे। सूत्रों का कहना है कि अरविंद केजरीवाल ने जो माफी मांगी, उसका स्क्रिप्ट मजीठिया की लीगल टीम ने तैयार किया। साथ ही केजरीवाल ने यह वादा भी किया कि भविष्य में वह मजीठिया के खिलाफ कोई निजी हमला नहीं बोलेंगे। मजीठिया के करीबी और शिरोमणि अकाली दल के एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि केजरीवाल मुकदमा दर्ज होने के बाद से ही कोर्ट से बाहर निपटारे के लिए बेताब थे।

सूत्र बताते हैं कि बातचीत के दौरान तय हुआ था कि माफी मांगने के बाद केजरीवाल और उनकी पार्टी की  इस पर कोई राजनीतिक बयानबाजी भी नहीं होगी। उधर राजौरी गार्डन विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा ने केजरीवाल की माफी पर चुटकी लेते इसे झूठ की गलती स्वीकार करना बताया। सूत्र बताते हैं कि दोनों पक्षों की बातचीत में सिरसा की भी भूमिका रही। हालांकि उन्होंने पूछे जाने पर कहा कि यह संवेदनशील मामला है। न वो इन्कार करते हैं और न ही इसकी पुष्टि।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App