ताज़ा खबर
 

लड़कियों ने भी बरसाए पुलिस पर पत्थर, आज पूरी कश्मीर घाटी में स्कूल-कॉलेज बंद

पुलवामा कार्रवाई के विरोध में श्रीनगर में एसपी कॉलेज और विमिन कॉलेज के सैकड़ों छात्र-छात्राओं ने आजादी और भारत विरोधी नारे गए और मुख्य एम ए रोड को बंद कर दिया। इसके बाद प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को आंसू गैस के गोले और पानी की बौछार करनी पड़ी।

सुरक्षाबलों पर पत्थरबाजी करते प्रदर्शनकारी छात्र।

दो दिन पहले पुलवामा के एक कॉलेज में पुलिस की कार्रवाई का विरोध कर रहे सैकड़ों प्रदर्शकारियों की पुलिस से झड़प हो गई, जिसमें 60 से ज्यादा स्कूल और कॉलेज के छात्रों, जिनमें लड़कियां भी शामिल थे, घायल हो गए। इसे देखते हुए जम्मू-कश्मीर सरकार ने प्राइमरी स्कूलों को छोड़कर मंगलवार को घाटी के सभी स्कूल-कॉलेजों को बंद करने का फैसला किया है। पुलिस ने प्रदर्शनकारी छात्रों को तितर-बितर करने के लिए पेलेट गन, आंसू गैस और मिर्ची के गोले छोड़े थे। यूनिफॉर्म पहने इन छात्रों ने कुपवाड़ा से सोपोर और श्रीनगर से कुलगाम तक पुलवामा के गवर्नमेंट कॉलेज में पुलिस कार्रवाई का विरोध किया था, जिसमें 50 छात्र घायल हुए थे।

अधिकारियों ने बताया कि सोमवार के प्रदर्शन का आह्वान कश्मीर यूनिवर्सिटी स्टूडेंट्स यूनियन (KUSU) ने किया था। राज्य के शिक्षा मंत्री अल्ताफ बुखारी ने सहयोगी इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि एहतियात के तौर पर डिविजनल प्रशासन ने सभी हायर सेकंडरी स्कूल, कॉलेज और यूनिवर्सिटीज को मंगलवार को बंद रखने का फैसला किया है।

पुलवामा कार्रवाई के विरोध में श्रीनगर में एसपी कॉलेज और विमिन कॉलेज के सैकड़ों छात्र-छात्राओं ने आजादी और भारत विरोधी नारे गए और मुख्य एम ए रोड को बंद कर दिया। इसके बाद प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को आंसू गैस के गोले और पानी की बौछार करनी पड़ी। इसमें 7 छात्र और एक जवान घायल हो गया। विमिन कॉलेज की एक छात्रा ने कहा कि हम कॉलेज के अंदर विरोध प्रदर्शन कर रहे थे, लेकिन पुलिस ने बाहर से ही एसपी कॉलेज के छात्रों पर आंसू गैस के गोले छोड़ दिए, जिसके बाद हम सड़क पर आ गए। उसने बताया कि जब हम एसपी कॉलेज के पास आए तो उन्होंने हम पर भी आंसू गैस के गोले छोड़ दिए। हमारे हाथ में पत्थर नहीं थे, हम शांति पूर्वक प्रदर्शन कर रहे थे। पुलिसकर्मियों ने हमसे बदतमीजी की और गालियां भी दीं।

सोपोर में भी सैकड़ों छात्र-छात्राएं आजादी और भारत विरोधी नारे लगाते हुए सड़कों पर आ गए। उन्होंने सीआरपीएफ कैंप पर पत्थर फेंके, जिसके बाद पुलिस ने उन पर आंसू गैस के गोले छोड़े। अधिकारियों ने बताया कि इस झड़प में कई छात्र घायल हो गए। दक्षिणी कश्मीर के कुलगाम के प्रदर्शन में 32 छात्र, जिसमें 3 लड़कियां शामिल हैं, घायल हो गए। पुलिस ने उन पर आंसू गैस के गोले छोड़े थे। प्रदर्शकारी छात्र-छात्राएं उन पर पत्थर फेंक रहे थे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 राजस्थान यूनिवर्सिटी में लीक हुआ पेपर, पूर्व प्रोफेसर सहित 9 लोग हुए गिरफ्तार
2 पूर्व NSA एम के नारायण की सलाह- ‘कैदियों की अदला-बदली से सुलझ सकता है जाधव मामला’
3 पाटीदारों से बोले नरेंद्र मोदी- आपने इतना बड़ा काम क‍िया है कि मैं हिंदी में भाषण देकर पूरे देश को बताना चाहता हूं
यह पढ़ा क्या?
X