ताज़ा खबर
 

सेना ने बांदीपोरा में ढेर किया आतंकी, नौगाम में नाकाम की दो घुसैपठ

सुरक्षा बलों ने तलाशी अभियान शुरू किया तो छुपे हुए आतंकवादियों ने उन पर गोली चला दी जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई, जिसमें अभी तक एक आतंकवादी मारा गया है।

Author श्रीनगर | September 22, 2016 17:39 pm
बांदीपोरा में तैनात एक सेना का जवान। (Photo Source: Indian Express/Shuaib Masoodi)

उत्तरी कश्मीर के बांदीपोरा जिले में सुरक्षा बलों के साथ एक मुठभेड़ में गुरुवार को एक आतंकी मारा गया। सेना के एक अधिकारी ने बताया, ‘बांदीपोरा में मुठभेड़ में एक आतंकवादी मारा गया।’ उन्होंने बताया कि बांदीपोरा के अरगाम गांव में आतंकवादियों की मौजूदगी को लेकर खुफिया सूचना मिलने पर कार्रवाई करते हुये सुरक्षा बलों ने इलाके को घेर लिया और तलाशी अभियान शुरू किया।

उन्होंने बताया कि जैसे ही सुरक्षा बलों ने तलाशी अभियान शुरू किया छुपे हुए आतंकवादियों ने उन पर गोली चला दी जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई, जिसमें अभी तक एक आतंकवादी मारा गया है। अधिकारी ने बताया कि सुरक्षा बलों ने मुठभेड़ स्थल से एक हथियार भी बरामद किया है। उन्होंने बताया, ‘अभियान जारी है और इसके बारे में और अधिक ब्यौरे की प्रतीक्षा है।’ उन्होंने बताया कि मारे गये आतंकवादी की पहचान और उसके संगठन के बारे में पता लगाया जा रहा है।

Read Also: अपने खून से PM मोदी को खत लिखकर की मांग-खून का बदला खून, नवाज को लाओ होश में

वहीं सेना ने आतंकियों की पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर से घाटी में घुसपैठ की दो कोशिशों को नियंत्रण रेखा पर नाकाम कर दिया है। सेना के एक प्रवक्ता के मुताबिक, ‘घुसपैठ की कोशिशों को नाकाम करने के लिए उरी और नौगाम में अभियान जारी है। इसी दौरान आतंकवादियों द्वारा घुसपैठ की कोशिश को सफलतापूर्वक नौगाम सेक्टर के विभिन्न दो जगहों से नाकाम कर दिया गया है। सेना पिछले दो दिनों से उरी में घुसपैठ के विरोध में अभियान चला रही है, जिसमें एक सैनिक शहीद भी हो गया।

Read Also: रामदेव बोले- देश में चाहते हैं शांति तो पीओके में ध्वस्त करने होंगे आतंकी कैंप

ऐसी खबरें हैं कि कम से कम आठ आतंकवादी उरी अभियान के दौरान मारे गए हैं लेकिन अभी तक किसी का भी शव बरामद नहीं हुआ है। प्रवक्ता ने बताया कि सेना ने नियंत्रण रेखा पर घुसपैठ के प्रयासों में वृद्धि को देखते हुए निगरानी में इजाफा कर दिया है। उन्होंने आगे बताया, ‘गुरुवार तड़के दो अलग-अलग समूह घुसपैठ की कोशिश कर रहे थे, जिसे भागने पर मजबूर कर दिया गया।’

उरी हमले से संबंधित विस्तृत खबरें यहां पढ़ें…

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App