ताज़ा खबर
 

J&K: प्रदर्शन के दौरान घायल कश्मीरी की अस्पताल में मौत, श्रीनगर में फिर लगे प्रतिबंध

सौरा में छह अगस्त को भीड़ द्वारा किए प्रदर्शन में असरार अहमद खान घायल हो गए थे। जम्मू-कश्मीर से पांच अगस्त को विशेष राज्य का दर्जा वापस लेने के अगले ही दिन यह प्रदर्शन किया गया था।

श्रीनगर | Updated: September 4, 2019 1:48 PM
प्रतीकात्मक फोटो फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

प्रदर्शन के दौरान पिछले महीने घायल हुए कश्मीरी युवक ने बुधवार तड़के श्रीनगर के एक अस्पताल में दम तोड़ दिया, जिसके बाद अधिकारियों ने शहर के कुछ हिस्सों में फिर से प्रतिबंध लगा दिए। सौरा में छह अगस्त को भीड़ द्वारा किए प्रदर्शन में असरार अहमद खान घायल हो गए थे। जम्मू-कश्मीर से पांच अगस्त को विशेष राज्य का दर्जा वापस लेने के अगले ही दिन यह प्रदर्शन किया गया था। श्रीनगर के व्यवसायिक इलाकों और सिविल लाइन्स के कुछ इलाकों में एहतियाती तौर पर प्रतिबंध लगाए गए हैं। अधिकारियों ने बताया कि खान को सौरा के ‘शेर-ए-कश्मीर इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज’ में भर्ती कराया गया था। उसकी बुधवार तड़के मौत हो गई। पुलिस के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा, ‘‘उसे कोई गोली नहीं लगी थी।’’

वहीं दूसरी ओर कश्मीर घाटी में यातायात में बाधा डालने के लिये पटाखों का इस्तेमाल, दुकानदारों को डराते बंदूकधारी युवक और प्रदर्शनकारियों का लोगों को आतंकवादियों के फरमानों का आदर करने की चेतावनी देने की घटनाएं बार बार सामने आ रही हैं। यहां पांच अगस्त को राज्य से विशेष दर्जा वापस लेने के बाद से पाबंदियां लागू हैं। अधिकारियों ने कहा कि शरारती तत्व वाहनों की आवाजाही में बाधा डालने के लिये पटाखों का इस्तेमाल कर रहे हैं। उन्होंने यहां करन नगर इलाके में निजी वाहनों पर कुछ युवकों द्वारा पटाखे फेंकने की घटना का भी उदाहरण दिया।

अधिकारियों के अनुसार रविवार और सोमवार को सिविल लाइन्स इलाके में बाइक पर सवार दो बंदूकधारी युवक देखे गए जो लोगों से दुकाने बंद रखने या भयावह परिणाम भुगतने के लिये कह रहे थे। गौरतलब है कि पिछले सप्ताह पारिम्पोरा इलाके में आतंकवादियों ने एक दुकानदार की गोली मारकर हत्या कर दी थी क्योंकि उसने दुकान बंद रखने के उनके फरमान को ठुकरा दिया था। अधिकारियों के अनुसार रविवार को मध्य कश्मीर के मागम में तीन नकाबपोश देखे गए जो लोगों से पूरी तरह हड़ताल पर जाने के लिये कह रहे थे। अधिकारियों के अनुसार जम्मू-कश्मीर पुलिस हालात पर करीबी नजर रखे हुए है और इस तरह की राष्ट्र विरोधी गतिविधियों के नेटवर्क का पता लगाने की कोशिश कर रही है।

 

Next Stories
1 डीके शिवकुमार की गिरफ्तारी के बाद कई जगहों पर प्रदर्शन, स्कूलों और कॉलेजों में भी छुट्टी
2 Hasin Jahan का नया बयानः ‘जब राम रहीम और आसाराम नहीं बचे तो मोहम्मद शमी क्या है? ज्यादा दिन नहीं बचोगे’
3 सिद्दारमैया ने फिर की बदतमीजी, करीबी को सरेआम जड़ा थप्पड़, फिर दिया धक्का, Mysore Airport का Video Viral
ये पढ़ा क्या?
X