ताज़ा खबर
 

उरी हमले के तीसरे दिन तीन मुठभेड़ में 10 आतंकी ढेर, एक जवान शहीद, पाकिस्तान ने तोड़ा सीजफायर

उरी और हंदवाड़ा की तरह ही नौगाम में भी आतंकी भारतीय सीमा में घुसपैठ की कोशिश कर रहे थे।

Author श्रीनगर | September 20, 2016 8:18 PM
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

उरी हमले के तीसरे दिन मंगलवार को पाकिस्तान ने सीज फायर तोड़ा। इसके साथ ही कश्मीर की तीन जगहों पर आतंकियों के साथ मुठभेड़ हुई। सेना के साथ मुठभेड़ में 10 आतंकी ढेर हो गए और सुरक्षाबल का एक जवान भी शहीद हो गया। मंगलवार को भारतीय सेना ने उरी में हुई मुठभेड़ में 10 आतंकियों को मार गिराया। इसके बाद दूसरी मुठभेड़ हंदवाड़ा में हुई, जहां पर एक जवान घायल हो गया। वहीं मंगलवार शाम को नौगाम में हुई मुठभेड़ में एक जवान शहीद हो गया। इससे पहले पाकिस्तान सेना ने उरी सेक्टर में सीजफायर का उल्लंघन किया था। जिसका भारतीय सेना ने कड़ा जवाब दिया था। उरी, हंदवाड़ा और नौगाम में अभी सेना और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी है।

उरी और हंदवाड़ा की तरह ही नौगाम में भी आतंकी भारतीय सीमा में घुसपैठ की कोशिश कर रहे थे। हंदवाड़ा में तीन-चार आतंकियों के छुपे होने की खबर है। हंदवाड़ा में आतंकियों और भारतीय सेना के बीच मुठभेड़ जारी है। दोनों तरफ से गोलीबारी जारी है। बता दें, भारतीय सेना ने मंगलवार को उरी सेक्टर के लाचिपुरा इलाके में दस आतंकियों को मार गिराया। ये आतंकी भारत में घुसपैठ करने की कोशिश कर रहे थे। तभी भारतीय सेना ने इन्हें ढेर कर दिया।

इसके अलावा मंगलवार दोपहर में कश्‍मीर के उरी सेक्‍टर में पाकिस्‍तानी सेना ने युद्धविराम का उल्‍लंघन भी किया था। खबरों के अनुसार पाक की ओर से ओपन फायरिंग की गई। भारत की ओर से भी इसका जवाब दिया गया। उरी सेक्टर में ही रविवार को आतंकी हमले में सेना के 17 जवान शहीद हुए थे। उत्तरी कश्मीर के उरी शहर में रविवार (18 सितंबर) सुबह भारी हथियारों से लैस आतंकवादियों ने एक बटालियन मुख्यालय पर हमला कर दिया था, जिसमें 17 जवान शहीद हो गए और 19 अन्य घायल हुए थे। यह हमला हाल के वर्षों में सेना पर किए गए सबसे घातक हमलों में से एक था। हमले में शामिल चार आतंकियों को सेना ने मार गिराया था। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि रविवार सुबह करीब चार बजे हुए आतंकी हमले के साथ ही विस्फोटों की आवाज सुनाई दी और मुठभेड़ शुरू हो गई थी।

Read Also: उरी: भारत में घुसने की कोशिश कर रहे दस आतंकियों को सेना ने किया ढेर

हमले के समय डोगरा रेजीमेंट के जवान एक तंबू में सोए हुए थे, जिसमें विस्फोट के चलते आग लग गई। आग पास स्थित बैरकों तक भी फैल गई। उन्होंने कहा कि माना जा रहा है कि हाल ही में सलमाबाद नाला के पास एक क्षेत्र से घुसे आतंकवादियों ने इस हमले को अंजाम दिया। सेना की उत्तरी कमान ने बताया कि आतंकी हमले में 17 जवान शहीद हुए हैं तथा 19 अन्य घायल हुए हैं। मुठभेड़ में चार आतंकवादी भी मारे गए हैं। आतंकवादियों ने दो साल पहले भी इसी क्षेत्र के मोहरा में इसी तरह का हमला किया था। पांच दिसंबर 2014 को हुए उस आतंकी हमले में 10 जवान शहीद हो गए थे।

Read Also: हंदवाड़ा: सेना और आतंकियों के बीच मुठभेड़, एक जवान घायल

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App