ताज़ा खबर
 

कश्मीर में तीन आतंकी मारे गए, ग्रेनेड फटने से एक व्यक्ति मरा, प्रदर्शनकारियों ने सुरक्षाबलों पर किया पथराव

तीन आतंकियों के मारे जाने की खबर आने के बाद पुलवामा कस्बे में टकराव की स्थिति पैदा हो गई। प्रदर्शनकारियों ने सुरक्षा बलों पर पथराव किया।

Author श्रीनगर | May 8, 2016 2:58 AM
आतंकियों से मुठभेड़ के दौरान तहस-नहस हुआ मकान। (पीटीआई फोटो)

दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले में तलाशी अभियान में सुरक्षा बलों के साथ हुई मुठभेड़ में शनिवार तड़के हिजबुल मुजाहिदीन के तीन आतंकवादी मारे गए। गोलीबारी समाप्त होने के बाद मुठभेड़ स्थल पर एक ग्रेनेड विस्फोट में एक व्यक्ति मारा गया और एक व्यक्ति घायल हो गया। उधर विरोध प्रदर्शन की आशंका के मद्देनजर श्रीनगर और बनिहाल के बीच ट्रेन सेवा शनिवार (7 मई) को रोक दी गई। सैन्य अधिकारी ने बताया कि पुलिस और सेना के संयुक्त बल ने पुलवामा जिले के पंज्गम गांव में आतंकवादियों के मौजूद होने की खुफिया सूचना के आधार पर गांव को घेर लिया।

सुरक्षा बल जब तलाश अभियान चला रहे थे, तभी छिपे बैठे आतंकवादियों ने उन पर गोलीबारी शुरू कर दी। मुठभेड़ में शनिवार तड़के तीन आतंकवादी मारे गए। ये तीनों स्थानीय थे और उनका संबंध हिजबुल मुजाहिदीन से था। मारे गए आतंकवादियों की पहचान डोगीपुरा निवासी अशफाक अहमद डार, ताहब निवासी इशफाक अहमद बाबा और बराव बांदयुन के हसीब अहमद के रूप में की गई है। मुठभेड़ स्थल से तीन हथियार भी बरामद किए गए हैं। पुलिस ने बताया कि गोलीबारी समाप्त होने के बाद मुठभेड़ स्थल पर कुछ लोग एकत्र हो गए। वहां रखे ग्रेनेड में अचानक विस्फोट हो गया। इसमें एक नागरिक मारा गया जबकि एक नागरिक घायल हो गया। घायल को यहां के एसकेआइएमएस अस्पताल ले जाया गया जहां उसकी हालत स्थिर बताई जा रही है।

तीन आतंकियों के मारे जाने की खबर आने के बाद पुलवामा कस्बे में टकराव की स्थिति पैदा हो गई। प्रदर्शनकारियों ने सुरक्षा बलों पर पथराव किया। इसके जवाब में सुरक्षा बलों ने आंसू गैस के गोले छोड़े। रेलवे अधिकारी ने कहा कि इलाके में विरोध प्रदर्शन की आशंका को देखते हुए श्रीनगर और बनिहाल के बीच ट्रेन सेवा रोकने का निर्णय किया गया है। विरोध के दौरान रेलवे की संपत्ति को नुकसान पहुंचाया जा सकता है। अधिकारी स्थिति का आकलन करेंगे। इसके बाद यह निर्णय करेंगे कि रविवार से रेल सेवाएं बहाल की जाएं या नहीं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App