ताज़ा खबर
 

कश्मीर में 24 घंटे के भीतर दूसरा आतंकी हमला, दो पुलिसकर्मी शहीद

पुलिस के मुताबिक, 'कश्मीर के अनंतनाग जिले में हुए आतंकी हमले में दो पुलिसकर्मी शहीद हो गए हैं।'

Author श्रीनगर | Updated: June 4, 2016 4:58 PM
kashmir latest news, kashmir Anantnag News, Kashmir Terror Attack, Terror Attack Anantnag, Kashmir Terror Attack newsभारतीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने कहा अंगदान को राष्ट्रिय मुहिम बनाने की जरूरत। (फाइल फोटो)

दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग शहर में आतंकियों ने 24 घंटों के भीतर दूसरी घटना को अंजाम देते हुए शनिवार (4 जून) दो पुलिसकर्मियों की गोली मारकर हत्या कर दी। अनंतनाग में 22 जून को विधानसभा उपचुनाव होने वाला है जहां से मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती चुनाव लड़ रही हैं। सुरक्षा बलों को निशाना बना कर किये गये हमले में संदिग्ध आतंकवादियों ने 11 बजकर 20 मिनट पर अनंतनाग में मुख्य बस स्टैंड पर पुलिस के एक दल पर गोलीबारी शुरू कर दीं। हमले में सहायक सब इंस्पेक्टर बशीर अहमद और कांस्टेबल रेयाज अहमद घायल हो गये। घायल पुलिसकर्मियों को अस्पताल ले जाया गया जहां उन्होंने दम तोड़ दिया। जिले में 24 घंटों के भीतर यह दूसरा हमला उस समय हुआ है जब प्रतिबंधित हिज्बुल मुजाहिद्दीन के आतंकवादियों ने घात लगाकर बीएसएफ के एक काफिले पर बिजबेहरा में पड़ोस के गोरीवान इलाके में हमला किया जिसमें इसके तीन जवान मारे गये।

शनिवार (4 जून) को यहां से 52 किलोमीटर दूर अनंतनाग में हमला कियागया। हमले को आतंकवादियों द्वारा मतदाताओं को डराने के प्रयास के रूप में देखा जा रहा है। यहां से महबूबा राज्य विधानसभा पहुंचने के लिए चुनाव लड़ रही हैं। पूर्व मुख्यमंत्री और उनके पिता मुफ्ती मोहम्मद सईद के सात जनवरी को हुए निधन के कारण खाली हई इस सीट पर 22 जून को चुनाव होना निर्धारित है। महबूबा सहित नौ प्रत्याशी मैदान में हैं। पुलिस और सीआरपीएफ ने इलाके की घेराबंदी कर दी है और दोषियों को पकड़ने के लिए विभिन्न स्थानों की तलाशी ली जा रही है।

विपक्षी नेशनल कांफ्रेंस ने पीडीपी-भाजपा सरकार पर निशाना साधा है और कहा है, ‘कागज पर जमीनी सुधार के दावों के बजाय राज्य सरकार को कुछ ठोस करना चाहिए और जनता का बचाव और सुरक्षा सुनिश्चित करनी चाहिए।’ पार्टी प्रवक्ता जुनैद मट्टू ने कहा कि विधानसभा चुनाव सिर पर है, पर्यटन का मौसम जारी है और आगे अमरनाथ यात्रा है इसके मद्देनजर ‘हर कोई चाहता है कि सुरक्षा बेहतर होनी चाहिए। लेकिन अब और तब भी सुरक्षा प्रतिष्ठान में खामियां सामने आती रही हैं।’

राज्य कांग्रेस प्रमुख जी ए मीर ने कानून और व्यवस्था से निपटने में पीडीपी-भाजपा सरकार पर सवालिया निशान लगाते हुए कहा, ‘मतदाताओं के दिमाग में भय पैदा किया जा रहा है और एक स्वस्थ लोकतंत्र के लिए यह शुभ संकेत नहीं है।’ सैयद अली शाह गिलानी के नेतृत्व वाली पाकिस्तान समर्थक कट्टपंथी हुर्रियत धड़े के चुनाव के बहिष्कार के बाद यह हमला हुआ है।

Next Stories
1 Viral Video: दफ्तर से लौटा तो देखा घर में लटक रहे थे प्रेम में मग्‍न दो सांप
2 महाराष्‍ट्र: मोदी-शाह के नेतृत्व में भाजपा के लिए पहला झटका, भ्रष्‍टाचार के आरोपों में घिरे खडसे का इस्तीफा
3 घरवालों को नहीं पसंद आया 27 साल की लड़की का 64 साल के टीचर से प्यार, मैरिज रजिस्ट्रार के यहां की पिटाई
ये पढ़ा क्या?
X