ताज़ा खबर
 

अगर मुसलमानों ने लव जिहाद नहीं रोका तो हम बजरंग दल के लड़कों से मुस्लिम लड़कियों को पटवाएंगे: वीएचपी

इसके साथ ही गोपाल ने लव जिहाद को हिंदुओं के लिए गंभीर खतरा भी बताया।
इस सभा में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत भी मौजूद थे। (Photo Source: PTI)

कर्नाटक के उडुपी में हिंदू संतो, मठ प्रमुखों और विश्व हिंदू परिषद की सभा ‘धर्म संसद’ में एक वीएचपी नेता द्वारा लव जिहाद मुद्दे को लेकर विवादित बयान दिया गया है। रविवार को आयोजित की गई इस सभा में वीएचपी नेता गोपाल ने कहा कि अगर मुस्लिम लव जिहाद नहीं रोकते हैं तो वे बजरंग दल के युवाओं द्वारा मुस्लिम लड़कियों को पटवाएंगे। इस सभा में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत भी मौजूद थे। गोपाल ने कहा कि मुस्लमानों को लव जिहाद रोकना चाहिए। हम प्यार के खिलाफ नहीं हैं लेकिन हमारी लड़कियां शाहरुख और शिरीश या सलमान और सुनील को एक समान समझती हैं। हिंदू लड़कियां यह नहीं समझती हैं कि हिंदू लड़के केवल एक बार शादी करते हैं बल्कि अन्य कई शादियां करते हैं। इसके साथ ही गोपाल ने लव जिहाद को हिंदुओं के लिए गंभीर खतरा भी बताया।

यह पहला मामला नहीं है जब विश्व हिंदू परिषद द्वारा लव जिहाद के मुद्दे को उठाया गया है। हाल ही में वीएचपी और बजरंग दल द्वारा राजस्थान के जयपुर में हुए तीन दिवसीय अध्यात्मिक मेले में लव जिहाद की बुकलेट बेचने का मामला सामने आया था। इन बुकलेट्स में हिंदू महिलाओं को मुस्लमान पुरुषों से सतर्क रहने, उन्हें गद्दार, राष्ट्र विरोधी और पाकिस्तानी कहने की अपील की गई थी। इस बुकलेट का टाइटल ‘जिहाद और लव जिहाद… हिंदू लड़कियां सावधान रहें’ दिया गया था। इस बुकलेट को वीएचपी और बजरंग दल के सदस्य केवल पांच रुपए में भेजते हुए दिखाई दिए थे।

इतना ही नहीं इस बुकलेट में बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान और आमिर खान का उदाहरण देकर लव जिहाद से बचने की नसीहत भी दी गई थी। इसके साथ ही बुकलेट में उन स्थानों का भी वर्णन किया गया था जहां पर वीएचपी और बजरंग दल के मुताबिक सबसे ज्यादा लव जिहाद की घटनाएं होती हैं। इसके अलावा बुकलेट में लव जिहाद की पीड़िताओं को वीएचपी कार्यकर्ताओं से संपर्क करने की भी बात कही गई थी। इतना ही नहीं लव जिहाद का भूत उतारने के लिए तांत्रिक का भी इंतजाम करने का दावा इस बुकलेट के जरिए किया गया था।

देखिए वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.