ताज़ा खबर
 

कर्नाटक में कांग्रेस पर योगी आदित्य नाथ का हमला- टीपू सुल्तान की पूजा करते हैं, हनुमान की नहीं

योगी आदित्यनाथ ने एक रैली में कहा कि कोई भी भाजपा को विधानसभा चुनाव के बाद कर्नाटक में सरकार बनाने से नहीं रोक सकता।

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कांग्रेस की मानसिकता को गुजरात और हिमाचल प्रदेश ने खारिज कर दिया है।

गुजरात में सफल चुनावी दौरे के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अब कर्नाटक की ओर रुख किये हैं। कर्नाटक में अगले साल विधानसभा का चुनाव है, लिहाजा बीजेपी अब इस राज्य में अपने एजेंडे का प्रचार चाहती है। इसी सिलसिले में सीएम योगी आदित्यनाथ कर्नाटक के हुबली शहर पहुंचे। योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को सिद्धरमैया सरकार पर प्रहार किया और कहा कि जिस तरह हिंदुओं और भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या की जा रही है वह ‘अराजकता की दशा’ को दर्शाता है। उन्होंने कांग्रेस पर 18 वीं सदी के मैसूर के शासक टीपू सुल्तान के प्रति सम्मान प्रर्दिशत कर भारत की समृद्ध परंपरा को अपमानित करने का आरोप लगाया। आदित्यनाथ ने कर्नाटक को हनुमान की जमीन बताते हुए और विजयनगर साम्राज्य का जिक्र करते हुए कहा कि यह बड़ा दुर्भाग्यपूर्ण है कि कांग्रेस हनुमान और विजयनगर की पूजा करने के बजाय टीपू सुल्तान की पूजा कर रही है। बता दें कि कर्नाटक सरकार ने इसी साल टीपू सुल्तान की जयंती आयोजित की थी। इसे लेकर बीजेपी ने कड़ा विरोध जताया था और कहा था कि कांग्रेस एक हिन्दुओं की हत्या करने वाले शासक का महिमामंडन कर रही है।

कर्नाटक की कांग्रेस सरकार द्वारा टीपू जयंती मनाये जाने से बड़ा विवाद पैदा हो गया है तथा इस मुद्दे पर लोगों की राय बंट गयी। उन्होंने यहां पार्टी की एक रैली में कहा कि कोई भी भाजपा को विधानसभा चुनाव के बाद कर्नाटक में सरकार बनाने से नहीं रोक सकता।  हाल के दो विधानसभा चुनावों का उल्लेख करते हुए कहा , ‘‘यह मानसिकता का अंतर है क्योंकि कांग्रेस देश भर में माफिया राज लागू करना चाहती है जो राहुल गांधी को धरोहर में मिला है। कर्नाटक को इसे खारिज करना होगा जैसे गुजरात एवं हिमाचल ने किया है। यदि कर्नाटक एक ही बार में कांग्रेस को खारिज कर देती है तो कोई भी टीपू सुल्तान की पूजा करने नहीं आएगा। ’’ उन्होंने प्रदेश भाजपा की ‘परिवर्तन यात्रा’ रैली में कहा, ‘‘जिस तरह हिंदू और भाजपा कार्यकर्ताओं की नृशंस हत्या की जा रही है, ऐसे में उनके जीवन पर हमेशा खतरा मंडराता रहता है और यह कर्नाटक में कांग्रेस शासन में अराजकता की दशा को दर्शाता है। ’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App