ताज़ा खबर
 

केवल 24 घंटे में बनवा कर 50 लाख में पत्‍नी को ग‍िफ्ट करेगा शानदार घर, बनेगा वर्ल्‍ड र‍िकॉर्ड

इस निर्माण से यह साबित हो जाएगा कि सामान्य निर्माण के मुकाबले इस तरह भी काम किया जा सकता है जिससे कि समय की बचत होगी और स्थिरता व गुणवत्ता में भी सुधार आएगा।

इस तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

बेंगलुरु में एक बिजनेसमैन अपनी पत्नी को उसके जन्मदिन पर तोहफे में देने के एक मार्बल के घर का निर्माण कराने जा रहा है। यहां की एक कंपनी 24 घंटे में इस आलीशान घर को बनाना का दावा कर रही है। अगर इस घर को एक दिन में बना दिया जाता है तो यह एक वर्ल्ड रिकॉर्ड बन जाएगा। यह मामला नॉर्थ बेंगलुरु के टी आगराहरा इलाके का है। तीन बेडरूम के इस घर को 2400 स्क्वायर फीट में बनाया जाएगा जिसकी कीमत टैक्स समेत 48 लाख रुपए होगी। इसके साथ ही 24 घंटे में इस घर को बनाने वाली कंपनी का नाम लिम्का बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज कर दिया जाएगा। टाइम्स ऑफ इंडिया के अनुसार कोडागु के रहने वाले बिजनेसमैन त्याग उथप्पा ने अपनी बीवी के जन्मदिन पर उसे एक बेहतरीन तोहफा देने का निर्णय लिया है।

उथप्पा चाहते हैं कि इस गिफ्ट को उनकी बीवी हमेशा याद रखे इसलिए उन्होंने कंपनी से संपर्क कर घर बनाने का कॉन्ट्रेक्ट दिया। जहां एक सामान्य घर को बनने में सात महीने से लेकर एक साल लग जाता है, वहीं इसे एक दिन में बनाने का दावा किया जा रहा है। किसी सामान्य घर के निर्माण में करीब 80 लाख रुपए खर्चा आता है जिसमें टैक्स अलग से देना होता है। वहीं बेंगलुरु की रेबेल डिसरपटिव बिल्डिंग टेक्नॉलोजी कंपनी इसे टैक्स समेत 48 लाख रुपए में बनाने जा रही है। हालांकि अभी निर्माण की तारीख की पुष्टि नहीं की गई है लेकिन बताया जा रहा है कि घर का निर्माण 15 जुलाई को किया जा सकता है। कंपनी के चीफ डिसरपटर पैडी मेनन ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि इस निर्माण से यह साबित हो जाएगा कि सामान्य निर्माण के मुकाबले इस तरह भी काम किया जा सकता है जिससे कि समय की बचत होगी और स्थिरता व गुणवत्ता में भी सुधार आएगा।

मेनन ने बताया कि इस घर के निर्माण के लिए नए सांचे को उपयोग में लाकर इसका ढांचा तैयार किया जाएगा। घर में करीब 15 से 20 बड़े तत्वों का इस्तेमाल किया जाएगा, जिन्हें इधर-उधर ले जाने के लिए ट्रेलर को उपयोग में लाया जाएगा। इस घर को बहुत ही ध्यानपूर्वक से बनाया जाएगा क्योंकि हमें 24 घंटे के अंदर इसका निर्माण पूरा करना है। अगर कोई भी चूक हो जाती है तो बना-बनाया काम बिगड़ सकता है। इससे पहले 2016 में मौहाली में 10 मंजिला इमारत का निर्माण 48 घंटो में किया गया था। जिसके बाद इस बिल्डिंग को बनाने वाली कंपनी का नाम लिम्का बुक ऑफ रिकोर्ड में दर्ज किया गया था। इस प्रकार के निर्माण से यह साबित होतो है कि निर्माण उद्योग इसपर काम कर रहा है और जल्द ही हर जगह इस प्रकार समय की बचत के साथ घर और बिल्डिंगों का निर्माण किया जा सकेगा

देखिए वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App