मर्यादा पुरुषोत्तम बनते हैं, जांच होगी तो पता चलेगा कितने चरित्रवान हैं- कर्नाटक के मंत्री ने सभी विधायकों को दी विवाहेतर संबंधों की जांच कराने की चुनौती

कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री ने विपक्षी विधायकों को खुली चुनौती देते हुए कहा कि उनके विवाहेतर संबंधों की जांच होनी चाहिए। खुद को मर्यादा पुरषोत्तम बताने वालों की पोल खुल जाएगी।

K Sudhakar Reddy
कर्नाटक के मंत्री के सुधाकर रेड्डी। फोटो- ट्विटर हैंडल

कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री के सुधाकर ने राज्य के विधायकों के खिलाफ विवादास्पद बयान दिया है। उन्होंने कहा कि विपक्ष के जो नेता खुद को मर्यादा पुरषोत्तम श्री राम बता रहे हैं उन्हें चुनौती है कि उनकी जांच होनी चाहिए। उन्होंने कहा, पता लगाया जाना चाहिए कि किसके कितने विवाहेतर संबंध हैं। अपने बयान के एक घंटे बाद ही उन्हें इसके लिए खेद व्यक्त करना पड़ा।

उन्होंने कहा, सबके चरित्र के बारे में पता चल जाएगा। मुख्यमंत्री रहते हुए किसने अपने निजी जीवन में क्या किया। अगर यहां नैतिकता के मूल्यों के आधार पर इस्तीफा मांगा जा रहा है तो इन लोगों की भी जांच जरूरी है। इसमें मंत्री, विधायक और विपक्ष के नेता भी शामिल होने चाहिए। सबके अवैध संबंधों के बारे में पता चल जाएगा, यह मेरी खुली चुनौती है।

बाद में सुधाकर ने कहा, ‘जब कांग्रेस ने गलत तरीके से हमारे 6 मंत्रियों पर इस तरह के आरोप लगाए तब किसी को दर्द नहीं हुआ। मेरे बयान का इतना सा मतलब है कि किसी और के बारे में कहने से पहले खुद को देखना चाहिए। मैं कहना चाहता हूं कि मेरे बयान को अन्यथा न लें। मेरे शब्दों के पीछे छिपी पीड़ा को समझने की कोशिश करें।’

के सुधाकर ने अपने बयान में पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया, कुमारस्वामी, कीपीसीसी के अध्यक्ष डीके शिवकुमार, पूर्व स्पीकर केआर रमेश और कई अन्य नेताओं का नाम भी लिया।  कर्नाटक विधानसभा में विपक्षी नेता पिछले दो दिनों से छह मंत्रियों समेत के सुधाकर के इस्तीफे की मांग कर रहे थे। स्वास्थ्य मंत्री के इस बयान के बाद बवाल हो गया और इसकी आलोचना होने लगी।

सुधाकर के साथ 6 मंत्री अपने खिलाफ छपने वाली खबरों के बारे में कोर्ट पहुंचे थे। कांग्रेस इसी मामले में मंत्रियों के इस्तीफे की मांग कर रही थी। सुधाकर के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए स्पीकर विश्वेसर हेगड़े ने कहा कि किसी भी सदस्य को ऐसे बयान नहीं देने चाहिए जिससे सदन का आपमान हो। विपक्ष के नेताओं ने इसे विशेषाधिकार हनन का मामला बताया है। एचडी कुमारस्वामी ने भी आलोचना करते हुए कहा कि सुधाकर समेत 6 मंत्रियों के अदालत जाने के बाद यह स्थिति आई है।

पढें कर्नाटक समाचार (Karnataka News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट