ताज़ा खबर
 

कर्नाटक चुनाव: मोदी ने बीजेपी कार्यकर्ताओं को नमो ऐप से दिया ‘जीत का मंत्र’

इसके साथ ही पीएम मोदी ने कहा, "पार्टियों को विकास पर चर्चा से डर है। जो लोग जाति आधारित राजनीति करते हैं, उनके लिए विकास कोई मुद्दा नहीं है, क्योंकि वे विशेष समुदाय को नकली वादों का एक लॉलीपॉप थमा देते हैं और फिर अगले चुनावों में किसी अन्य समुदाय के साथ ऐसा करते हैं।"

Author बेंगलुरु | Updated: April 26, 2018 11:55 AM
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी।

आगामी कर्नाटक विधानसभा चुनावों को ध्यान में रखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नमो ऐप के जरिए बीजेपी कार्यकर्ताओं और राज्य के पार्टी नेताओं को जीत का मंत्र दिया है। बीजेपी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि बीजेपी का एकमात्र एजेंडा विकास है और कांग्रेस पार्टी से भारत को मुक्त कराना है। पीएम ने कहा, “हम जनता का विश्वास जीतकर चुनाव जीतना चाहते हैं। जनता को गुमराह कर चुनावी मैदान में उतरने के हम पक्षकार नहीं हैं। हमें जनता का दिल जीतना है और अगर उनका दिल जीत लेते हैं तो हमें कोई पराजित नहीं कर सकता।”

वहीं, पीएम मोदी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस झूठे वादों से मतदाताओं को अपनी तरफ खींचने का काम करती है। पीएम ने बीजेपी कार्यकर्ताओं से कहा, “आपको अब चौकन्ना रहना पड़ेगा। दो-तीन बार चुनाव हारने के बाद कांग्रेस, जो पहले 50 चीजों के अंदर पांच-दस झूठ डाल देती थी, लेकिन अब 50 में से 40-45  उनके झूठ होते हैं और अन्य पांच का भी कुछ नहीं कहा जा सकता। आपको झूठ और अपप्रचार का मुकाबला करना है। इतना ही नहीं, विदेशी कंपनियों को हायर करके आपको गुमराह करने के षडयंत्र रचे जाएंगे। ऐसे समय में कार्यकर्ता को डिगना नहीं चाहिए और न उनका विश्वास खत्म होना चाहिए। हमें अपने मुद्दों और कार्यों पर आगे बढ़ना है।”

इसके साथ ही पीएम मोदी ने कहा, “पार्टियों को विकास पर चर्चा से डर है। जो लोग जाति आधारित राजनीति करते हैं, उनके लिए विकास कोई मुद्दा नहीं है, क्योंकि वे विशेष समुदाय को नकली वादों का एक लॉलीपॉप थमा देते हैं और फिर अगले चुनावों में किसी अन्य समुदाय के साथ ऐसा करते हैं।” कार्यकर्ताओं के अलावा करकला से विधायक वी सुनील कुमार से बातचीत के दौरान पीएम मोदी ने कहा, “चुनाव में आपके पास 15 दिन बचे हैं। सबसे पहले आपको जितने पुरुष कार्यकर्ता हैं, उतनी ही महिला कार्यकर्ताओं को लेना होगा। इसके बाद सभी कार्यकर्ताओं को कुछ परिवार सौंप दीजिए, जो इन 15 दिनों तक उनसे अच्छे से संपर्क बनाकर रखें। चुनाव वाले दिन उन्हें मतदान केंद्र तक लाना और मतदान कराना उनका कार्य होना चाहिए और तब देखिए आपको जीतने से कोई नहीं रोक सकता।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 जिला बदर खनन माफिया ने किया बीजेपी का प्रचार, अमित शाह ने कहा था: हमारा-उनका नहीं कोई सरोकार
2 कर्नाटक चुनाव: 35 रैलियां करेंगे योगी आदित्‍यनाथ, एक ने कसा तंज- सही है गुरु, सिर्फ यूपी ही क्‍यों बर्बाद हो
जस्‍ट नाउ
X