ताज़ा खबर
 

कर्नाटक: बीजेपी की पहली सूची में 72 उम्मीदवार, येदुरप्पा शिकारीपुरा, जगदीश शेट्टार हुबली धारवाड़ से लड़ेंगे चुनाव, देखें- पूरी लिस्ट

सूत्रों के मुताबिक रविवार की बैठक में 140 उम्मीदवारों के नामों पर चर्चा हुई मगर सिर्फ 72 की घोषणा की गई है। उम्मीद जताई जा रही है कि पार्टी जल्द ही बाकी नामों का भी एलान करेगी।

कर्नाटक में चुनावी जनसभा को संबोधित करने के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी( फोटो-ट्विटर)

कर्नाटक विधान सभा चुनाव के लिए भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी कर दी है। पार्टी की तरफ से मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार और पूर्व मुख्यमंत्री बी एस येदुरप्पा को शिकारीपुरा विधान सभा क्षेत्र से उम्मीदवार बनाया गया है। पूर्व मुख्यमंत्री जगदीश शेट्टार को हुबली धारवाड़ सेंट्रल और पार्टी के दिग्गज नेता के एस इश्वरप्पा को शिमोगा विधान सभा सीट से प्रत्याशी बनाया गया है। काफी मशक्कत के बाद बीजेपी के केंद्रीय चुनाव समिति ने रविवार देर शाम तक पहली लिस्ट पर मुहर लगाई। इससे पहले पीएम नरेंद्र मोदी और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने भी हरेक नाम पर चर्चा की। चुनाव समिति में फैसला होने के बाद पार्टी के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री जे पी नड्डा ने इसे जारी किया। लिस्ट में बेल्लारी से बीजेपी के लोकसभा सांसद बी श्रीमुलु को चुनावी मैदान में उतारा गया है। श्रीमुलु ने साल 1999 में बेल्लारी लोकसभा क्षेत्र में सोनिया गांधी के खिलाफ और सुषमा स्वराज के समर्थन में हवा बनाई थी। बावजूद इसके  सुषमा स्वराज को करीब 56,000 वोटों से सोनिया गांधी ने हरा दिया था।

सूत्रों के मुताबिक रविवार की बैठक में 140 उम्मीदवारों के नामों पर चर्चा हुई मगर सिर्फ 72 की घोषणा की गई है। उम्मीद जताई जा रही है कि पार्टी जल्द ही बाकी नामों का भी एलान करेगी। बता दें कि कर्नाटक विधान सभा की कुल 224 सीटों के लिए 12 मई को चुनाव होने हैं। बीजेपी की कोशिश है कि मौजूदा कांग्रेस की सिद्धारमैया सरकार को चुनावों में हटाकर न सिर्फ वहां बीजेपी की सरकार बनाए बल्कि दक्षिणी किले में भी सेंध लगाते हुए विजय अभियान को जारी रखा जाय। राजनीतिक पंडितों के मुताबिक कर्नाटक विधान सभा का चुनाव परिणाम देश की राजनीतिक दिशा तय करेगा क्योंकि अगले साल आम चुनाव होने हैं।

कर्नाटक चुनाव दिसचस्प मोड़ पर पहुंच चुका है। लिंगायत समुदाय के 220 मठों के संतों ने रविवार को ही बेंगलुरु में बैठक कर सिद्धारमैया और कांग्रेस को समर्थन देने का एलान किया है। अगर इन संतों की बात मानकर लिंगायत समुदाय के लोग कांग्रेस के पक्ष में वोटिंग करते हैं तो बीजेपी की राह मुश्किल हो सकती है क्योंकि राज्य में लिंगायत समुदाय की आबादी करीब 18 फीसदी मावी जाती है। पहले इस समुदाय पर बीजेपी का ही कब्जा रहा है। बीजेपी के सीएम उम्मीदवार येदुरप्पा भी इसी समुदाय से आते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App