Karnataka Cabinet Expansion, CM HD Kumaraswamy, Visits Delhi twice a week, Congress-JDS, HD Deve gowda, Ghulam Nabi Azad - कर्नाटक: कैबिनेट विस्तार पर खींचतान जारी, हफ्तेभर में दूसरी बार दिल्ली दौड़े कुमारस्वामी - Jansatta
ताज़ा खबर
 

कर्नाटक: कैबिनेट विस्तार पर खींचतान जारी, हफ्तेभर में दूसरी बार दिल्ली दौड़े कुमारस्वामी

पूर्व प्रधानमंत्री और जेडीएस अध्यक्ष एचडी देवगौड़ा ने बेंगलुरु में कुमारस्वामी के सीएम बनने के घटनाक्रम पर से पर्दा हटाते हुए कहा कि त्रिशंकु विधान सभा होने पर उन्होंने कांग्रेस को सरकार बनाने का प्रस्ताव दिया था मगर कांग्रेस नेताओं ने कहा था कि आवाकमान का निर्देश है कि कुमारस्वामी ही सीएम होंगे।

कर्नाटक के मुख्यमंत्री एच डी कुमरस्वामी और राज्य के उप मुख्यमंत्री जी परमेश्वर। (फोटो-PTI)

कर्नाटक में सरकार बने एक हफ्ते होने को है। बहुमत साबित हुए भी तीन दिन बीत गए लेकिन मंत्रिमंडल विस्तार और विभागों के बंटवारे को लेकर गठबंधन की दोनों पार्टियों के बीच खींचतान अभी भी जारी है। इसी वजह से मुख्यमंत्री एचडी कुमास्वामी को हफ्ते भर के अंदर दूसरी बार दिल्ली की दौड़ लगानी पड़ी है। कुमारस्वामी ने आज (28 मई को) नई दिल्ली में कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात की और गठबंधन सरकार में विभागों को लेकर चल रही खींचतान के मुद्दे पर बातचीत की। हालांकि, कुमारस्वामी की पार्टी जेडीएस ने इसे ”सकारात्मक” बातचीत करार दिया और उम्मीद जताई कि अगले एक-दो दिनों में विभागों के बंटवारे के मुद्दे को हल कर लिया जाएगा। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद के आवास पर आज हुई करीब डेढ़ घण्टे की मुलाकात के बाद जेडीएस महासचिव कुंवर दानिश अली ने बताया कि दोनों पार्टियों के बीच सकारात्मक बातचीत हुई है।

उन्होंने कहा, “गठबंधन में कुछ मुद्दों पर अलग राय होना स्वाभाविक बात है। विभागों को लेकर कुछ बातें हैं जिनको एक-दो दिन में हल कर लिया जाएगा।” इस बैठक में जेडीएस की तरफ से मुख्यमंत्री कुमारस्वामी, दानिश अली और एचडी रेवन्ना तथा कांग्रेस की तरफ से गुलाम नबी आजाद, अहमद पटेल, डीके शिवकुमार, मल्लिकार्जुन खड़गे, सिद्धरमैया, केसी वेणुगोपाल और जी परमेश्वर शामिल हुए। बैठक से पहले वेणुगोपाल ने कहा था कि कर्नाटक में कांग्रेस-जेडीएस सरकार में विभागों के आवंटन को एक-दो दिन में अंतिम रूप दे दिया जाएगा।

वेणुगोपाल ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के विदेश जाने की योजना विभागों के आवंटन के रास्ते में बाधक नहीं बनेगी। गौरतलब है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपनी मां सोनिया गांधी के इलाज के लिए विदेश गए हैं। सूत्रों का कहना है कि दोनों पार्टियों के बीच मुख्य रूप से वित्त मंत्रालय को लेकर बात अटकी हुई है। गठबंधन सरकार में कांग्रेस कोटे से 21 और जेडीएस कोटे से 11 मंत्री शामिल होंगे।

उधर, पूर्व प्रधानमंत्री और जेडीएस अध्यक्ष एचडी देवगौड़ा ने बेंगलुरु में कुमारस्वामी के सीएम बनने के घटनाक्रम पर से पर्दा हटाते हुए कहा कि त्रिशंकु विधान सभा होने पर उन्होंने कांग्रेस को सरकार बनाने का प्रस्ताव दिया था। उन्होंने कहा कि तब गुलाम नबी आजाद, अशोक गहलोत और मलिल्कार्जुन खड़गे से बात हुई थी जिसमें उन्होंने कहा था कि कांग्रेस सरकार बनाए, जेडीएस उसे समर्थन देगी लेकिन तब कांग्रेसी नेताओं ने कहा था कि आलाकमान से बात हो गई है, कुमारस्वामी ही सीएम होंगे। कांग्रेस उन्हें समर्थन देगी। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि बिना कांग्रेस के समर्थन के राज्य में किसानों का कर्ज माफ करना मुश्किल हो सकता है। उन्होंने कहा कि गठबंधन सरकार में दोनों दलों के हितों का ख्याल रखना पड़ता है और सरकार एक कॉमन मिनिमम प्रोग्राम पर काम करती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App