scorecardresearch

येदियुरप्पा एंड संस, तेजस्वी सूर्या…वंशवाद की राजनीति पर कुमारस्वामी ने गिना दिए BJP के ‘परिवारवादी’ नेताओं के नाम, सामने रख दी पूरी लिस्ट

पिछले हफ्ते हैदराबाद में हुई भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में वंशवाद विरोधी राजनीति पर जोर दिया गया था। इस पर कुमारस्वामी ने बीजेपी के परिवारवादी नेताओं के नामों की लिस्ट गिनवा दी।

HD Kumarswamy| JD(S)
कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी (फोटो सोर्स- फेसबुक)

कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री और जनता दल (सेक्युलर) के नेता एचडी कुमारस्वामी ने वंशवाद की राजनीति को लेकर भारतीय जनता पार्टी पर हमला बोला है। उन्होंने येदियुरप्पा एंड संस और तेजस्वी सूर्या का जिक्र करते हुए कहा कि बीजेपी वंशवाद की राजनीति में कोई अपवाद नहीं है।

पिछले हफ्ते हैदराबाद में हुई भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में वंशवाद विरोधी राजनीति पर जोर दिया गया था। कुमारस्वामी ने भाजपा महासचिव सी टी रवि को निशाने पर लेते हुए एक के बाद एक कई ट्वीट किए और बीजेपी के परिवारवादी नेताओं के नामों की लिस्ट गिनवा दी।

जेडी(एस) नेता ने इन नेताओं के नाम गिनाते हुए सोमवार (4 जुलाई, 2022) को ट्वीट किया और दक्षिण भारत में बीजेपी की वंशवादी पार्टियों को निशाना बनाने की योजना पर सवाल किया। उन्होंने कहा, “येदियुरप्पा एंड संस, रवि सुब्रमण्य-तेजस्वी सूर्य, अशोक-रवि, सोमन्ना-अरुण सोमन्ना, लिंबावली-रघु, विश्वनाथ-वाणी विश्वनाथ, शेट्टार-प्रदीप शेट्टार, निरानी-हनुमांती निरानी, ​​जी.एस. परिवार, ये सब क्या हैं?”

उन्होंने कहा, “दक्षिण में क्षेत्रीय दल मजबूत हैं। बीजेपी इस गढ़ को तोड़ नहीं पा रही है। आप ऑपरेशन कमल के जरिए कर्नाटक की सत्ता में आए। अन्य राज्यों में आपके प्रयास विफल रहे। अब तुम वंश-मुक्त भारत का राग अलाप रहे हो।”

उन्होंने आरोप लगाया कि बीजेपी ज्यादा शोर और कम विकास करने वाली पार्टी है। कुमारस्वामी ने एक ट्वीट में लिखा, “भाजपा पारिवारवादी राजनीति में अपवाद नहीं है। मेरे पास प्रदेश भाजपा की सूची है। क्या मुझे भारत की सूची देनी चाहिए? अधिक शोर और कम विकास भाजपा की नीति है।”

उन्होंने कहा, “आपने कहा था कि जेडीएस में आंतरिक लोकतंत्र नहीं है। रवि,​​क्या आंतरिक लोकतंत्र का मतलब पीएम नरेंद्र मोदी के सामने कांपते हुए खड़े होना है? क्या हर बात के लिए हां कहना है?” हाल ही में बीजेपी ने आंतरिक लोकतंत्र की कमी को लेकर जेडीएस पर निशाना साधा था। जेडीएस का नेतृत्व कुमारस्वामी के पिता और पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा कर रहे हैं।

बता दें कि इससे पहले मई में कुमारस्वामी ने कहा था कि सांप्रदायिक राजनीति भारत के भविष्य के लिए वंशवादी राजनीति की तुलना में एक बड़ा खतरा है। उनका ये जवाब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उस बयान पर आया था, जिसमें कहा गया था कि वंशवादी दल राष्ट्र के हित के खिलाफ काम करेंगे।

कुमारस्वामी ने एक पोस्ट में कहा था, राष्ट्र को खतरा वंशवादी राजनीतिक दलों से नहीं है, यह भाजपा जैसे सांप्रदायिक दलों द्वारा उत्पन्न किया गया है। राजनीतिक जमीन हथियाने के लिए भावनात्मक मुद्दों को उठाने वाली पार्टियां लोकतंत्र के लिए वास्तविक खतरा हैं और संवैधानिक मूल्यों के लिए खतरा हैं।

पढें कर्नाटक (Karnataka News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट

X