ताज़ा खबर
 

नेता को सोशल मीडिया पर पटाया, महिला ने ठग लिए साढ़े नौ लाख रुपये

पुलिस ने 25 साल की पी. हरिणी उर्फ स्वाति, उर्फ स्वाति गौड़ा उर्फ खुशी, उसके साथी 40 साल के रवि पेंगप्पा और 39 साल के वी. प्रकाश को गिरफ्तार कर लिया।

सांकेतिक तस्वीर।

बेंगलुरु पुलिस ने एक महिला को उसके दो सहयोगियों के साथ गिरफ्तार किया है। इन तीनों पर शहर के जनता दल सेक्युलर पार्टी के एक नेता से 9.7 लाख रुपये की कथित ठगी का आरोप है। शहर के नगराभवी में रहने वाले और जदसे के कथित नेता एल. श्रीनिवास ने इस संबंध में ज्ञानभारती पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज करवाई है। शिकायत में उन्होंने आरोप लगाया है कि अज्ञात महिला ने उनसे फेसबुक पर दोस्ती की और उनसे धोखाधड़ी करके पैसे ठग लिए।

शिकायत के बाद तुरंत कार्रवाई करते हुए पुलिस ने 25 साल की पी. हरिणी उर्फ स्वाति, उर्फ स्वाति गौड़ा उर्फ खुशी, उसके साथी 40 साल के रवि पेंगप्पा और 39 साल के वी. प्रकाश को गिरफ्तार कर लिया। ये सभी उत्तर पश्चिमी बेंगलुरु में थिगालरपाल्या के रहने वाले हैं। पुलिस ने इन लोगों के पास से 4.5 लाख रुपये कैश, एक आॅटो रिक्शा और मोबाइल फोन बरामद किया है।

पुलिस के मुताबिक, हरिणी और श्रीनिवास अगस्त में फेसबुक पर दोस्त बने थे। टीओआई की रिपोर्ट के मुताबिक जद सेक्युलर नेता एल. श्रीनिवास ने पुलिस को बताया कि हरिणी ने अपना पहला संदेश वरमहालक्ष्मी पर्व पर बधाई संदेश के तौर पर भेजा था। इसके बाद दोनों में दोस्ती हो गई। उसने बताया कि वह अपनी डांस क्लास शुरू करना चाहती है और इसके लिए उसे दो करोड़ रुपये की जरूरत है।

पीड़ित नेता ने पुलिस को बताया कि कुछ दिनों बाद, हरिणी ने उसे बताया कि उसके पिता ने उसके लिए दो करोड़ रुपये से इमारत की व्यवस्था कर ली है, जहां वह अपनी डांस क्लास शुरू करेगी। उसी दिन, उसने फिर से मुझे ये कहकर कॉल किया कि उसे तीन लाख रुपये की जरूरत है और उसने मुझे कर्ज देने के लिए अनुरोध किया।

टीओआई की रिपोर्ट के मुताबिक, जदयू नेता ने दावा किया आरोपी युवती पर भरोसा करते हुए मैंने हरिणी के भेजे हुए आदमी को 2.7 लाख रुपये कैश दे दिया। ये कैश मैंने बेंगलुरु यूनी​वर्सिटी कैंपस के पास बने बस अड्डे पर दिए थे। कुछ दिनों के बाद हरिणी ने फिर से 7 लाख रुपये की मांग की और मैंने उसी आदमी को उसी जगह वह रकम सौंप दी। उसी शाम को उसका मोबाइल फोन स्विचआॅफ हो गया और उससे संपर्क होना भी बंद हो गया। ये बातें श्रीनिवास ने अपनी शिकायत में कहीं।

रिपोर्ट के मुताबिक, बेंगलुरु पुलिस ने कहा कि हालांकि हरिणी इस मामले में मुख्य आरोपी है। लेकिन अन्य दो लोगों ने भी उसे इस प्लान को कारगर बनाने और राजनेता से रुपये ठगने में मदद की है। इसलिए इन तीनों पर गंभीर धाराओं में मामला दर्ज किया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App