ताज़ा खबर
 

नोटबंदी: सेक्स रैकेट का खुलासा, स्वैप मशीन के जरिए कस्टमर्स से लिया गया पेमेंट

एक शख्स को उस जगह पर कस्टमर बनाकर भेजा और पाया गया कि आरोपी ग्राहकों से स्वैपिंग मशीन के जरिए पैसे ले रहे हैं। आरोपी ने स्वैपिंग मशीन किसी दूसरे शख्स से मशीन ली है।

Author बेंगलुरु | December 18, 2016 16:39 pm
कस्टमर्स से पैसे लेने के लिए कर रहे थे स्वैपिंग मशीन का इस्तेमाल। (Photo Source: Reuters)

मोदी सरकार के नोटबंदी के फैसले के बाद कर्नाटक के बेंगलुरु में एक हैरान कर देने वाला सामने आया है। यहां सेक्स रैकेट चलाने वाला एक गिरोह कार्ड स्वैप मशीन के जरिए अपने ग्राहकों से पैसे वसूल रहा था। इस बात का खुलासा उस समय हुआ जब पुलिस ने सेक्स रैकेट चलने वाली जगह पर छापा मारा। हाल ही पुलिस ने शहर के इलेक्ट्रॉनिक सिटी स्थित एक घर में चल रहे सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ किया। पुलिस को खबर मिली थी यहां पर स्वैपिंग मशीन के जरिए वेश्यावृत्ति का कारोबार चल रहा है। जिसके बाद पुलिस ने छापा मारकर यूपी की रहने वाली अलका सिंह और शिकारीपलया के नदीम को शनिवार को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने उनके चुंगल से दो लड़कियों को भी छुड़ाया है, जिनको नौकरी दिलाने का झूठा वादा करके शहर लाया गया था।

बेंगलुरु मिरर की रिपोर्ट के मुताबिक नदीम नाम का शख्स दलाली का काम करता था और कस्टमर्स ढूंढकर लाने का काम करता था। पुलिस ने बताया कि पुख्ता जानकारी मिलने के बाद हमने आरोपी को पकड़ने के लिए जाल बिछाया। एक शख्स को उस जगह पर कस्टमर बनाकर भेजा और पाया गया कि आरोपी ग्राहकों से स्वैपिंग मशीन के जरिए पैसे ले रहे हैं। आरोपी ने स्वैपिंग मशीन किसी दूसरे शख्स से मशीन ली है।

पुलिस के मुताबिक गैरकानूनी काम के लिए मशीन देने वाले के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी। यही नहीं हम उन्होंने की भी तालाश कर रहे हैं जिनका एटीएम या डेबिट कार्ड इस मशीन में यूज किया गया है, हो सकता है कि वह भी सेक्स रैकेट का हिस्सा हो। पुलिस को आरोपी के पास मशीन के साथ-साथ तीन हजार रुपए कैश भी मिला है। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि मकान मालिक के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App