ताज़ा खबर
 

सीएम सिद्धारमैया के लिए मुसीबत बन रही शशिकला की चारपाई, गद्दा, तकिया; जानिए कैसे

दरअसल पूर्व अधिकारी ने जांच दल को बताया कि AIADMK प्रमुख वीके शशिकला को बेंगलुरु की सेंट्रल में जेल में सीएम के हस्तक्षेप के बाद आरामदायक सुविधाएं दी गईं।

कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्दारमैया। (फाइल फोटो)

सेंट्रल जेल के उच्च पद से रिटॉयर्ड हुए एक अधिकारी के बयान से कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया की मुश्किलें खासी बढ़ती हुई नजर आ रही हैं। दरअसल पूर्व अधिकारी ने जांच दल को बताया कि AIADMK प्रमुख वीके शशिकला को बेंगलुरु की सेंट्रल में जेल में सीएम के हस्तक्षेप के बाद आरामदायक सुविधाएं दी गईं। कहा जा रहा है कि मामला प्रकाश में आने के बाद कर्टनाक में सत्ता परिवर्तन की चाह रखने वाली भाजपा को नए सिरे से सिद्धारमैया सरकार पर निशाना साधने के लिए मुद्दा मिल गया है। कर्नाटक में इस साल मई में विधानसभा चुनाव होने है।

रिटॉयर्ड पुलिस अधिकारी एचएन सत्यनारायण राव पिछले साल बेंगलुरु में उसी सेंट्रल जेल के इंचार्ज थे जब एक पुलिस अधिकारी डी रूपा ने शशिकला को लेकर अनियमितताओं सहित विशेष उपचार देने का आरोप लगाया था। इस घटना के बाद सत्यनारायण राव को उनके पद से हटा दिया गया और आरोपों की जांच के लिए एक जांच कमेटी का गठन किया गया। आरोप में कहा गया कि शशिकला को दिए जा रहे स्पेशल ट्रीटमेंट में विस्तार के बदले जेल अधिकारियों को दो करोड़ रुपए दिए गए। शशिकला बेंगलुरु सेंट्रल जेल में चार साल की सजा काट रही हैं।

सत्यनारायण राव ने कमेटी को बताया कि जेल अधिकारियों के जरिए शशिकला को जेल में चारपाई, गद्दा और तकिया मुहैया कराया गया। हालांकि पूर्व में कहा गया था कि जेल के नियमों के तहत शशिकला इन सुविधाओं की हकदार नहीं हैं। मामले में भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव पी मुरलीधर राव ने सीएम सिद्धारमैया पर आरोप लगाया है कि उन्हीं के इशारों पर शशिकला जेल में विशेष सुविधाएं दी गईं। भाजपा के आरोपों के बाद अब सिद्धारमैया ने जवाब दिया है।

उन्होंने कहा है, ‘मैंने जेल के किसी अधिकारी को शशिकला को विशेष सुविधाएं देने के लिए नहीं कहा। मैंने जेल अधिकारियों से सिर्फ इतना कहा था कि वह जेल के नियमों का पालन करें।’ सीएम सिद्धारमैया ने आगे कहा कि मैंने सत्यनारायण राव से जेल के कानून के मुताबिक शशिकला की सहायता करने के लिए कहा था। न्यूज एजेंसी आईएएनएस के मुताबिक सीएम ने यह बात पत्रकारों से कही है। सीएम ने विपक्ष के आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि उन्होंने जेल अधिकारियों से कहा था कि अगर जेल नियम इजाजत दें तो शशिकला को गद्दा और तकिया देने की अनुमति दी जाए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App