ताज़ा खबर
 

बेंगलुरु: न्यू ईयर जश्न में फिर बेअदबी, पीड़िता के पति ने बताया- लड़कियों के कपड़ों में हाथ डाल रही थी भीड़

नए साल के जश्न के बहाने कुछ लोगों ने महिलाओं के कपड़ों के अंदर हाथ डालने की भी कोशिश की।
तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है। (फोटो सोर्स एएनआई)

बेंगलुरु में नए साल का जश्न मनाने के दौरान मनचलों ने एक बार फिर महिलाओं संग छेड़छाड़ की है। इस मामले में खुद एक पीड़िता के पति ने न्यूज चैनल को आपबीती सुनाई है। उन्होंने बताया कि न्यू ईयर ईव के दौरान वह ब्रिगेड रोड इलाके में आए थे लेकिन यहां उनकी पत्नी के साथ छेड़छाड़ की गई और उत्पीड़न किया गया। महिला के पति ने आगे बताया कि रविवार रात घड़ी में जैसे ही 12 बजे लोग नए साल का जश्न मनाने लगे। भीड़ में बहुत से युवा जानबूझकर महिलाओं पर गिरने लगे। इस दौरान कुछ लोगों ने महिलाओं के कपड़ों के अंदर हाथ डालने की भी कोशिश की। लड़कियों की जींस खोलने तक की कोशिश की गई।

शख्स ने आगे बताया कि ऐसा तब हुआ जब थोड़ी ही दूर पर पुलिस खड़ी थी और लोगों को कंट्रोल करने की कोशिश कर रही थी। शख्स का कहना है कि उनकी पत्नी के साथ कुछ लोगों ने गंदी हरकत की। पीड़िता के पति ने आगे बताया कि पुलिस ने आरोपियों को पकड़ने की जगह उन्हें ही वहां से जाने के कहा। हालांकि उन्होंने इसकी शिकायत करनी चाही लेकिन पत्नी ने मना कर दिया।

बता दें कि बेंगलुरु में बीते साल भी नए साल के दौरान इसी तरह के मामले सामने आए थे। तब बेंगलुरु मिरर अखबार की रिपोर्ट के अनुसार, शहर के एमजी रोड और ब्रिगेड रोड पर हजारों पुरुषों की भीड़ ने महिलाओं के साथ छेड़छाड़ और अश्‍लील हरकतें की। यह सब पुलिस के सामने होता रहा। अखबार के रिपोर्टर ने बताया कि उसने खुद ने देखा कि कई महिलाओं ने पुलिस के पास जाकर छेड़छाड़ और गंदे कमेंट की शिकायत की। तब अखबार ने मदद की गुहार लगाती युवतियों और महिलाओं की तस्‍वीरें भी छापी थी। तस्वीरों में महिलाएं रोती हुईं और यहां-वहां भागती हुई नजर आई थीं।

तब इस मामले में पुलिस का कहना था कि उन्हें इसकी शिकायत नहीं मिली। हालांकि कहा गया कि कुछ शराबी युवकों को खदेड़ा गया था। गौरतलब है कि बेंगलुरु से हर साल इस तरह की खबरें आती हैं और वहां पर अकसर भीड़ बेकाबू हो जाती है। इसके चलते वहां पर सार्वजनिक रूप से जश्‍न मनाने पर कुछ पाबंदियां रहती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App