ताज़ा खबर
 

बंगलुरु से लौटेंगे गुजरात के चवालीस कांग्रेसी विधायक, 8 को होना है मतदान

इन सभी को अमदाबाद के पास आणंद के एक रिसॉर्ट रखा जाएगा। वहां से मतदान के लिए सभी को इकट्ठे विधानसभा ले जाया जाएगा।
Author नई दिल्ली | August 7, 2017 03:16 am
कांग्रेस नेता अहमद पटेल।

गुजरात से राज्यसभा की तीन सीटों के लिए होने वाले चुनाव की तारीख नजदीक आने के साथ ही कांग्रेस और भाजपा ने अंतिम दौर की रणनीतिक तैयारियां शुरू कर दी हैं।
आठ अगस्त को मतदान होना है। टूट-फूट से बचाने के लिए बंगलुरु के एक रिसॉर्ट ले जाए गए गुजरात के 44 कांग्रेसी विधायकों को पार्टी सोमवार को वापस ले जाएगी। इन सभी को अमदाबाद के पास आणंद के एक रिसॉर्ट  रखा जाएगा। वहां से मतदान के लिए सभी को इकट्ठे विधानसभा ले जाया जाएगा। इन विधायकों को टूटकर भाजपा में शामिल होने से रोकने के लिए आपदा प्रबंधन के उपाय के तहत कांग्रेस ने बंगलुरु भेज दिया था। इस बार के राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस के उम्मीदवार अहमद पटेल की प्रतिष्ठा दांव पर मानी जा रही है। भाजपा ने तीन उम्मीदवार खड़े कर दिए हैं। पार्टी अध्यक्ष अमित शाह, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के अलावा कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए बलवंतसिंह राजपूत को भी टिकट दिया गया है। गुजरात से राज्यसभा के 11 सदस्य हैं। इनमें से भाजपा की स्मृति ईरानी और दिलीपभाई पांड्या व कांग्रेस के अहमद पटेल का कार्यकाल 18 अगस्त को पूरा हो रहा है। राजपूत को मैदान में उतारकर भाजपा ने कांग्रेस के पटेल के लिए चुनौती पेश की है। गुजरात में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शंकर सिंह वाघेला के कांग्रेस छोड़ने के बाद से उनके गुट के छह विधायक पार्टी छोड़कर भाजपा का दामन थाम चुके हैं। वाघेला के पुत्र महेंद्र समेत सात अन्य विधायकों से कांग्रेस के नेता संपर्क नहीं साध पा रहे हैं। अलबत्ता ये सभी भाजपा नेताओं के संपर्क में बताए जा रहे हैं। ऐसे में कांग्रेस के कुल 57 विधायकों में पार्टी के पास 44 बचे रह गए हैं। उनमें से कोई टूट न जाए, इसके लिए कांग्रेस के नेता चौकसी बरत रहे हैं।

इन नेताओं को पहले बंगलुरु से दिल्ली होते हुए गुजरात ले जाने और सीधे मतदान के लिए विधानसभा पहुंचाने की तैयारी थी। लेकिन कांग्रेस नेता शक्तिसिंह गोहिल के अनुसार सभी को सीधे गुजरात ले जाया जाएगा और आणंद के रिसॉर्ट में ठहराया जाएगा। यह रिसॉर्ट कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष भरत सिंह सोलंकी का है। रक्षा बंधन के मौके पर विधायकों के परिजनों को रिसॉर्ट बुलाया जाएगा। परिजनों को छूट रहेगी कि वे रिसॉर्ट में रुके या अपने घर जाएं। पार्टी ने फिलहाल विधायकों की यात्रा का ब्योरा गुप्त रखा है। कांग्रेस प्रवक्ता और विधायक शक्ति सिंह गोहिल ने ट्वीट कर इन सभी कांग्रेसी विधायकों के वीडियो जारी किए, जिसमें वे लोग कांग्रेस के साथ बने रहने और अहमद पटेल को जिताने की बात कर रहे हैं। गोहिल ने कहा कि भाजपा यह गलत खबर फैला रही है कि हमारे विधायक नोटा पर वोट करेंगे। सभी 44 विधायक एकजुट हैं और अहमद पटेल को जिताएंगे। इस बीच, गुजरात में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने यू टर्न लेते हुए ऐलान किया है कि उसके दो विधायक पटेल के लिए वोट नहीं करेंगे।  कांग्रेस के नेता भाजपा खेमे में चल रही हलचलों पर भी नजर रख रहे हैं। भाजपा के अध्यक्ष अमित शाह शनिवार की रात को गुजरात पहुंच गए। रविवार को अपने घर पर उन्होंने भाजपा के पदाधिकारियों और विधायकों की बैठक ली। शाह से मिलने गुजरात भाजपा प्रभारी भूपेंद्र सिंह यादव पहुंचे। इसके अलावा मिलने वालों में भाजपा के प्रदेश प्रमुख जीतु वाधाणी व मुख्यमंत्री विजय रूपाणी भी थे।

कांग्रेस के नेता अपने विधायकों को लेकर हर तरह की सावधानी बरत रहे हैं, लेकिन सशंकित भी हैं। विधायक शैलेष परमान ने आरोप लगाया कि 44 विधायकों के परिजनों पर दबाव बनाया जा रहा है। धन का लालच दिया गया है। पुलिस भेजकर धमकी दिलवाई गई है। वरिष्ठ नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि भाजपा के लोग डराने-धमकाने और असहिष्णुता की राजनीति कर रहे हैं। बंगलुरू के रिसॉर्ट के मालिक और कर्नाटक कांग्रेस के नेता के घर व दफ्तरों पर सीबीआइ के छापे का जिक्र करते हुए उन्होंने पूछा कि सरकार व्यापमं समेत उन तमाम घोटालों पर क्यों खामोश है, जिनमें भाजपा नेताओं पर आरोप हैं?

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.