ताज़ा खबर
 

कांग्रेस विधायक ने खुलेआम कबूला- बीजेपी को बाहर करने के लिए ‘विरोधी’ जेडीएस से मिलाया हाथ!

इस वीडियो में कांग्रेस विधायक डी सुधाकर कहते दिख रहे हैं कि कांग्रेस ने बीजेपी को सत्ता से बाहर रखने के लिए ही जेडीएस से हाथ मिलाया है और राज्य में कांग्रेस की मुख्य राजनीतिक प्रतिद्वंदी अभी भी जनता दल सेकुलर ही है।

कर्नाटक के सीएम कुमारस्वामी एवं पूर्व सीएम और कांग्रेस नेता सिद्धारमैया (फाइल फोटो)

कर्नाटक में छोटे-मोटे हिचकोले खाकर ही सही कांग्रेस और जेडीएस की सरकार चल पड़ी है। विभाग बंटवारे के बाद सरकार ने 11 जून से काम काम शुरू कर दिया है। इस बीच कांग्रेस के एक विधायक का सामने आया वीडियो दोनों दलों के बीच मनमुटाव पैदा कर सकता है। साथ ही बीजेपी को इस गठबंधन पर हमले का मौका भी दे सकता है। इस वीडियो में कांग्रेस विधायक डी सुधाकर कहते दिख रहे हैं कि कांग्रेस ने बीजेपी को सत्ता से बाहर रखने के लिए ही जेडीएस से हाथ मिलाया है और राज्य में कांग्रेस की मुख्य राजनीतिक प्रतिद्वंदी अभी भी जनता दल सेकुलर ही है। इस वीडियो में कांग्रेस विधायक डी सुधाकर एक कार्यक्रम को संबोधित कर रहे हैं। इसमें वह कह रहे हैं, “जनता दल सेकुलर के साथ हमारा गठबंधन सिर्फ बीजेपी को हराने कि लिए हुआ है, हम बीजेपी को सत्ता से बाहर रखना चाहते हैं, हमारी मुख्य प्रतिद्वंदी अभी भी जेडीएस ही है।” बता दें कि डी सुधाकर चित्रदुर्ग के हिरयुर से कांग्रेस के विधायक हैं।

डी सुधाकर के इस बयान पर अभी जनता दल सेकुलर की प्रतिक्रिया नहीं आई है। ना ही बीजेपी ने इस मुद्दे पर कोई बयान दिया है। लेकिन गठबंधन की सेहत पर इस बयान से असर पड़ सकता है। बता दें कि कांग्रेस के कई विधायक सरकार में मंत्री पद ना मिलने से नाराज हैं। कर्नाटक में गठबंधन साझेदारों के बीच बनी सहमति के अनुसार कांग्रेस को उपमुख्यमंत्री सहित 21 और जद(एस) को मुख्यमंत्री सहित 11 मंत्री पद मिले हैं। इस वक्त 25 मंत्रियों में 14 कांग्रेस के और नौ जनता दल (सेकुलर) के हैं, तथा एक-एक बहुजन समाज पार्टी (बसपा) और कर्नाटक प्रज्ञावंता जनता पक्ष (केपीजेपी) से हैं।

इस बीच कर्नाटक में सत्तारूढ़ गठबंधन में साझेदार कांग्रेस ने बेंगलुरू की जयनगर विधानसभा सीट बुधवार (13 जून) को जीत ली। कांग्रेस की सौम्या रेड्डी ने भारतीय जनता पार्टी के अपने निकतम प्रतिद्वंद्वी को 2,889 मतों के कम अंतर से हराया। निर्वाचन आयोग के एक अधिकारी ने आईएएनएस को बताया, “कुल 1,11,580 मतों में से, सौम्या को कुल 54,457, जबकि भाजपा के बी.एन. प्रह्लाद को 51,568 मत मिले। बेंगलुरू दक्षिणपश्चिम की राज राजेश्वरी नगर की सीट और जयनगर से जीत हासिल करने के बाद राज्य विधानसभा में कांग्रेस उम्मीदवारों की संख्या अब 80 हो गई। जद(एस) के पास 36, भाजपा के 104 विधायक हैं। बेंगलुरू में कांग्रेस के पास 15, भाजपा के पास 11 और जद(एस) के पास दो सीटें हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App