ताज़ा खबर
 

कर्नाटक: बजरंग दल कार्यकर्ताओं पर मुस्लिम महिलाओं की दुकान जलाने का आरोप, बीफ बेचने का शक था

बजरंग दल कार्यकर्ताओं के एक समूह ने कथित तौर पर कैंटीन में तोड़फोड़ की और वहां काम कर रही दो महिलाओं के साथ अभद्रता की।

तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है। (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

कर्नाटक में बजरंग दल के कार्यकर्ताओं द्वारा मुस्लिम महिलाओं की दुकान जलाने का मामला सामने आया है। कथित तौर पर बजरंग दल के छह कार्यकर्ताओं ने सकलेशपुर टाउन स्थित कैंटीन में आग लगा दी। कार्यकर्ताओं को शक था कि यहां बीफ बेची जा रही है। घटना गुरुवार (31 जनवरी) की है। इसके अगले दिन शुक्रवार को सकलेशपुर टाउन पुलिस थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई। इस पूरे मामले पर स्थानीय एसपी एएन प्रकाश गौडा ने कहा कि राघवेद्र नगर के रहने वाले शमीम और खमरून्निसा ने चिकन और मटन बेचने के लिए मेकशिफ्ट टेंट कैंटीन खोला था।

शमीम द्वारा की गई शिकायत के अनुसार, बजरंग दल कार्यकर्ताओं के एक समूह ने कथित तौर पर कैंटीन में तोड़फोड़ की और वहां काम कर रही दो महिलाओं के साथ अभद्रता की। पुलिस ने आईपीसी की धारा 323 (चोट पहुंचाना), 354 (महिलाओं के साथ अभद्रता), 427 (संपत्ति का नुकसान), 436 (आग लगा नुकसान पहुंचाना) और 506 (आपराधिक धमकी) के तहत बजरंग दल के कार्यकर्ताओं के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

बता दें कि यह पहली बार नहीं है, जब बीफ के शक में पिटाई की गई है। झारखंड में बीफ ले जाने के शक में अलीमुद्दीन नामक व्यक्ति की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी। वहीं, पिछले साल जून महीने में उत्तर प्रदेश के बरेली में एक कथित रूप से बीफ बेचने के आरोप पर एक मीट व्यापारी की पिटाई की गई थी। पिटाई के बाद उसे अस्पताल में भर्ती करवाया गया था, जहां उसकी मौत हो गई थी। इस मामले में मृतक की पत्नी के बयान पर मामला दर्ज किया गया था।

बीत साल ही जुलाई महीने में महाराष्ट्र के नागपुर में बीफ ले जाने के आरोप में एक व्यक्ति की जमकर पिटाई की गई थी। इस मामले में पुलिस ने प्रहार संगठन के 4 लोगों को गिरफ्तार भी किया था। पिटाई के दौरान लोग तमाशाबीन खड़े रहे और वीडियो बना रहे थे। बाद में गंभीर रूप से जख्मी व्यक्ति को अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। पीडित की पत्नी ने बताया था कि उसके पति मटन लेकर जा रहे थे, तभी करीब आधा दर्जन लोगों ने उन्हें पकड़ लिया और बेरहमी से पिटाई की थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App