ताज़ा खबर
 

गहराया कर्नाटक संकट: अब निर्दलीय विधायक ने इस्तीफा दिया, कुमारस्वामी सरकार से वापस लिया समर्थन

कांग्रेस ने शनिवार को भाजपा पर विधायकों की खरीद-फरोख्त कर ''संविधान का चीरहरण'' करने का आरोप लगाया था और कहा था कि केंद्र की सत्तारूढ़ पार्टी के षड्यंत्र के बावजूद राज्य की सरकार नहीं गिरेगी।

Author बंगलुरू | July 8, 2019 12:50 PM
कर्नाटक के सीएम कुमार एचडी स्वामी

कर्नाटक के मंत्री और निर्दलीय विधायक एच. नागेश ने सोमवार को इस्तीफा दे दिया और एच डी कुमारस्वामी के नेतृत्व वाली गठबंधन सरकार से समर्थन वापस लेकर राज्य में सत्तारूढ़ जेडीएस-कांग्रेस की सरकार को एक और झटका दिया है।

हाल ही में लघु उद्योग मंत्री के तौर पर मंत्रालय में शामिल किए गए नागेश ने यहां राजभवन में राज्यपाल वजुभाई वाला से मुलाकात की और त्यागपत्र सौंपा। यह कदम उन खबरों के बीच उठाया गया है जिनके मुताबिक गठबंधन सरकार के मंत्रियों से इस्तीफा देने वाले असंतुष्ट विधायकों की खातिर अपना पद छोड़ने को कहा गया है। इस्तीफे स्वीकार होने की सूरत में सत्तारूढ़ गठबंधन अपना बहुमत खोने की कगार पर पहुंच जाएगा।

बता दें कि नागेश के अपना समर्थन वापस ले लेने के बाद विधानसभा में अध्यक्ष के अलावा जेडीएस-कांग्रेस की गठबंधन सरकार के कुल 117 सदस्य (कांग्रेस-78, जेडीएस-37, बसपा-1 और निर्दलीय- 1) हैं। सदन में भाजपा के 105 सदस्य हैं जहां बहुमत के लिए 113 का आंकड़ा होना चाहिए। अगर विधायकों के इस्तीफे स्वीकार होते हैं तो गठबंधन के सदस्यों की संख्या घट कर 104 पर पहुंच जाएगी।

उधर, कर्नाटक में कई विधायकों के इस्तीफे के कारण कांग्रेस-जेडीएस सरकार पर मंडराए संकट का मुद्दा कांग्रेस सोमवार को लोकसभा में उठाएगी। इस संदर्भ में उसने कार्यस्थगन प्रस्ताव दिया है। पार्टी सूत्रों के मुताबिक कर्नाटक में ”भाजपा द्वारा विधायकों की खरीद-फरोख्त” का मुद्दा लोकसभा में उठाया जाएगा।

कांग्रेस ने शनिवार को भाजपा पर विधायकों की खरीद-फरोख्त कर ”संविधान का चीरहरण” करने का आरोप लगाया था और कहा था कि केंद्र की सत्तारूढ़ पार्टी के षड्यंत्र के बावजूद राज्य की सरकार नहीं गिरेगी। कर्नाटक विधानसभा के 13 विधायकों ने पिछले कुछ दिनों में इस्तीफा दिया है। इनमें से 10 विधायक कांग्रेस के हैं, जबकि 3 विधायक जेडीएस के हैं ।

गत शनिवार को इस्तीफा देने वाले 11 विधायक में से 10 विधायक मुंबई के एक होटल में ठहरे हुए हैं। राज्य की 224 सदस्यीय विधानसभा में सत्ताधारी गठबंधन का संख्या बल विधानसभा अध्यक्ष के अलावा 118 (कांग्रेस-78, जेडीएस-37, बसपा-1 और निर्दलीय-2) है। इसमें वे विधायक भी शामिल हैं, जिन्होंने इस्तीफा दे दिया है। उनके इस्तीफे विधानसभा अध्यक्ष ने अभी तक स्वीकार नहीं किए हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App