Karnataka police officer who alleged VIP treatment for Sasikala in jail transferred - Jansatta
ताज़ा खबर
 

बेंगलुरु जेल में शशिकला को मिल रहे VIP ट्रीटमेंट का खुलासा करने वाली IPS डी. रूपा का ट्रांसफर

कर्नाटक सरकार ने अन्नाद्रमुक (अम्मा) नेता वी के शशिकला को जेल में ‘‘विशेष’’ सुविधाएं दिए जाने और यहां के केंद्रीय कारागार में दूसरे ‘‘गलत’’ कामों के आरोपों को लेकर सार्वजनिक बहस में शामिल जेल के दो शीर्ष अधिकारियों का आज तबादला कर दिया।

Author बेंगलुरु | July 17, 2017 8:33 PM
एआईएडीएमके महासचिव शशिकला। (Photo Source: PTI/File)

कर्नाटक सरकार ने अन्नाद्रमुक (अम्मा) नेता वी के शशिकला को जेल में ‘‘विशेष’’ सुविधाएं दिए जाने और यहां के केंद्रीय कारागार में दूसरे ‘‘गलत’’ कामों के आरोपों को लेकर सार्वजनिक बहस में शामिल जेल के दो शीर्ष अधिकारियों का आज तबादला कर दिया। पुलिस महानिदेशक :कारागार: एच एन सत्यनारायण राव और उन पर रिश्वत के आरोप लगाने वाली उपमहानिरीक्षक (कारागार) डी रूपा का तत्काल प्रभाव से तबादला कर दिया गया।

राज्य सरकार ने एक अधिसूचना में आज कहा कि भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के अतिरिक्त एन एस मेघारिख का तत्काल प्रभाव से तबादला कर उन्हें राव की जगह अतिरिक्त डीजीपी :कारागार: के पद पर तैनात किया गया है। इसमें यह भी कहा गया कि रूपा को पुलिस उपमहानिरीक्षक और यातायात एवं सड़क सुरक्षा आयुक्त के पद पर तैनात किया गया है। हालांकि अधिसूचना में यह स्पष्ट नहीं किया गया है कि राव का तबादला किस पद पर किया गया है और रूपा की जगह किसे तैनात किया गया है।

राव को 12 जुलाई को सौंपे गए एक रिपोर्ट में रूपा ने कहा था कि ऐसी ‘‘बातें’’ हो रही हैं कि शशिकला को विशेष सुविधाएं देने के बदले दो करोड़ रुपये दिए गए और राव खिलाफ भी आरोप हैं। रूपा ने यह भी कहा था कि जेल नियमों का उल्लंघन करते हुए शशिकला के लिए वहां एक विशेष रसोईघर भी काम कर रहा है। राव ने आरोपों को खारिज करते हुए इसे ‘‘पूरी तरह गलत, बेबुनियाद और अविवेचित’’ बताया और कहा कि वह अपनी कनिष्ठ अधिकारी रूपा के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेंगे।

दोनों अधिकारियों के बीच सार्वजनिक बहस शुरू होने के साथ मुख्यमंत्री सिद्धरमैया ने आरोपों को लेकर एक सेवानिवृत्त आईएएस अधिकारी द्वारा उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिए। साथ ही मामले से शर्मसार हुई राज्य की कांग्रेस सरकार ने रूपा को कानूनी नोटिस भेजकर अपने इस आचरण को लेकर स्पष्टीकरण देने को कहा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App