ताज़ा खबर
 

कर्नाटक विवाद : कांग्रेस विधायक पर जान से मारने की कोशिश का केस दर्ज, पार्टी ने किया निलंबित

कर्नाटक में कांग्रेस विधायक जेएन गणेश के खिलाफ जान से मारने की कोशिश का केस दर्ज कराया गया है। उनके खिलाफ यह शिकायत कांग्रेस के ही दूसरे विधायक आनंद सिंह ने दी है।

कांग्रेस विधायक आनंद सिंह, फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

कर्नाटक में कांग्रेस विधायक जेएन गणेश के खिलाफ जान से मारने की कोशिश का केस दर्ज कराया गया है। उनके खिलाफ यह शिकायत कांग्रेस के ही दूसरे विधायक आनंद सिंह ने दी है। आनंद बेल्लारी की विजयनगर सीट से विधायक हैं। वे शनिवार रात रिजॉर्ट में हुई झड़प के दौरान घायल हो गए थे। बीजेपी के डर से कांग्रेस ने अपने सभी विधायकों को रामनगर स्थित ईगलन रिजॉर्ट रखा हुआ था। वहीं, कांग्रेस ने मामले की जांच कराने का आदेश दिया है। साथ ही, कंपाली सीट से विधायक जेएन गणेश को निलंबित कर दिया।

शनिवार रात हुआ था विवाद : जानकारी के मुताबिक, कांग्रेस के विधायकों के बीच शनिवार रात एक रिजॉर्ट में झड़प हुई थी, जिसमें आनंद सिंह घायल हो गए थे। उन्हें रविवार सुबह अपोला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। आनंद की आंख, नाक व सीने पर चोट लगी हैं। हालांकि, कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने रविवार को किसी भी तरह की झड़प होने से साफ इनकार कर दिया था।

गणेश पर यह आरोप : आनंद सिंह ने रामनगर जिले के बिदादी थाने में जेएन गणेश के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। उन्होंने बताया कि शनिवार रात डिनर के बाद अपने कमरे में लौटते वक्त गणेश ने उन पर पिछले विधानसभा चुनाव के दौरान फंड की आपूर्ति में बाधा डालने और अपने भतीजे को लाभ पहुंचाने का आरोप लगाया था। इसके बाद गणेश ने आनंद पर हमला बोल दिया और उनका सिर दीवार में मार दिया। इसके अलावा जब आनंद जमीन पर गिर गए तो गणेश उन्हें लात मारते रहे।

गणेश बोले- बचाव के दौरान लगी चोट : जेएन गणेश ने दावा किया है कि आनंद सिंह और बेल्लारी के विधायक भीमा नाइक के बीच झड़प हो रही थी। उन्होंने दोनों को शांत कराने की कोशिश की। गणेश ने बताया, ‘‘मैं दोनों को शांत कराने की कोशिश कर रहा था, लेकिन चीजें हाथ से निकल गईं। अगर इस घटना से उन्हें दुख पहुंचा है तो मैं माफी मांगता हूं।’’

इस बात पर हुई थी लड़ाई : पार्टी के सूत्रों के अनुसार, आनंद सिंह ने कांग्रेस नेताओं को असंतुष्ट गतिविधियों की सूचना दी थी। साथ ही, कहा था कि बीजेपी में जाने की पेशकश के संबंध में उनके साथ दोहरा खेल खेला गया था। इसके बाद लड़ाई होने लगी। बता दें कि आनंद सिंह, जेएन गणेश और भीमा नाइक उन 7 विधायकों में शामिल हैं, जिनकी खरीद-फरोख्त की आशंका कांग्रेस ने जताई थी। वहीं, अन्य विधायक बी नागेंद्र (बेल्लारी), रमेश झारकीहोली, महेश कामतहाली (बेलगावी) और उमेश जाधव (कलबुर्गी) हैं।

आनंद सिंह ने वरिष्ठ नेताओं को दी थी जानकारी : बताया जा रहा है कि आनंद सिंह ने ही पार्टी के वरिष्ठ नेता और राज्य मंत्री डीके शिवकुमार को इस मामले की जानकारी दी थी। इसके बाद बेलगावी के विधायकों के अलावा बाकी सभी के कांग्रेस में लौटने का दावा किया गया था। कांग्रेस का कहना है कि रिजॉर्ट में हुए विवाद की जांच कराई जा रही है। आनंद सिंह से मामले की पूरी जानकारी ली जा रही है। वहीं, पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष दिनेश गुंडु राव को जांच पूरी होने तक जेएन गणेश को निलंबित करने का आदेश दिया गया है।

येदियुरप्पा बोले : बीजेपी ने कभी नहीं की सरकार गिराने की कोशिश : बीजेपी नेता और कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने शनिवार को कहा था कि बीजेपी ने कभी भी गठबंधन सरकार गिराने की कोशिश नहीं की। कांग्रेस नेता अपने विधायकों की नाराजगी दूर करने में नाकाम हो रहे हैं और हम पर आरोप लगा रहे हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 EVM हैकिंग पर बोले जेटली- राफेल के बाद एक और झूठ, बढ़ रहा है कांग्रेस का पागलपन
2 महिला एंकर पैंट पहनकर आई तो भड़कीं बीजेपी नेता मौसमी चटर्जी, बोलीं – ये कपड़े ठीक नहीं
3 खाली पड़े मकानों और गोदामों को भी किया गया सील
ये पढ़ा क्या?
X