ताज़ा खबर
 

भक्‍त बनकर पुजारी की कार रुकवाई, माला पहनाने के बहाने लूट ले गए 25 लाख और गाड़ी

कर्नाटक में राजधानी बैंगलोर से करीब 70 किलोमीटर दूर कुछ बदमाशों ने नाटकीय तरीके से एक मंदिर के पुजारी से लाखों की रकम और उसकी लक्जरी कार लूट ली। बिदनागिरी सत्य शनेश्वर स्वामी मंदिर में प्रबंधक की भूमिका में काम करने वाले पुजारी को बदमाशों ने भक्त बनकर लूटा।

तस्वीर का प्रयोग प्रतीक के तौर पर किया गया है। (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

कर्नाटक में राजधानी बैंगलोर से करीब 70 किलोमीटर दूर कुछ बदमाशों ने नाटकीय तरीके से एक मंदिर के पुजारी से लाखों की रकम और उसकी लक्जरी कार लूट ली। बिदनागिरी सत्य शनेश्वर स्वामी मंदिर में प्रबंधक की भूमिका में काम करने वाले पुजारी को बदमाशों ने भक्त बनकर लूटा। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बदमाशों ने वारदात को उस वक्त अंजाम दिया जब मंदिर के धनंजय स्वामी अपने साथ दान की हुई करीब 25 लाख रुपये की रकम लेकर घर जा रहे थे। बदमाशों को शायद इस बात का इल्म पहले से था कि पुजारी के पास मोटी रकम है। बदमाशों ने फिल्मी अंदाज में पुजारी को छलने की योजना बनाई। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक शनिवार (9 जून) की रात करीब 10 बजे 6 बदमाश एक नई चमचमाती कार में सवार होकर आए और उन्होंने स्वामी को घर जाते वक्त रास्ते में रोक लिया। बदमाशों ने भक्त के तौर पर स्वामी को अपना परिचय दिया और आग्रह किया कि वह उनकी नई कार को माला पहनाकर पूजन करा दें।

बदमाशों के बिछाए जाल में धनंजय स्वामी फंस चुके थे इसलिए उनकी गाड़ी का पूजन करने के इरादे से कार से उतर पड़े। धनंजय स्वामी ने कार से नीचे कदम रखा ही था कि तभी बदमाशों ने उनकी आंखों में काली मिर्च का पाउडर झोंक दिया। इसके बाद बदमाशों ने स्वामी के ड्राइवर और बाकी दो लोगों की कनपटी पर असलहा लगाकर धमकी दी और उन्हें गाड़ी से उतार दिया। बदमाश स्वामी की गाड़ी में सवार हो गए और कुछ ही पलों में वारदात को अंजाम देकर रफू-चक्कर हो गए।

कहा जा रहा है कि बदमाशों के द्वारा घात लगाकर लूटी गई रकम मंदिर की दानराशि में से थी। मंदिर में 150 फुट के हनुमान जी की प्रतिमा लगाए जाने का काम चल रहा है जिसके लिए लोग दिल खोलकर दान दे रहे हैं। लूटे हुए धन में दानपात्रों में जमा किया गया पैसा भी था। कुनीगल पुलिस में वारदात की रिपोर्ट दर्ज कराई गयी है और आरोपियों की धरपकड़ की कोशिश की जा रही हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App