ताज़ा खबर
 

सीएम कुमारास्वामी के मंत्री ने मांगी महंगी कार, कहा- बचपन से बड़ी कार में चला हूं, इनोवा में आराम नहीं मिलता

जमीर अहमद खान कर्नाटक के खाद्य मंत्री हैं। राज्य सरकार ने उन्हें इनोवा कार मुहैया कराई है, लेकिन कांग्रेस कोटे से मंत्री बने जमीर ने उससे कहीं ज्यादा महंगी फॉर्च्यूनर कार देने की मांग की है। उन्होंने बताया कि इनोवा आरामदायक नहीं है।

कर्नाटक के सीएम कुमारस्वामी एवं पूर्व सीएम और कांग्रेस नेता सिद्धारमैया (फाइल फोटो)

कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी. कुमारास्वामी के कैबिनेट सहयोगी और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने लग्जरी कार की मांग कर नया विवाद छेड़ दिया है। राज्य के खाद्य मंत्री बीजेड. जमीर अहमद खान ने इनोवा के बजाय उससे कहीं ज्यादा महंगी फॉर्च्यूनर कार आवंटित करने की मांग की है। उन्होंने इसके पीछे विचित्र तर्क दिया है। कर्नाटक के मंत्री ने कहा कि इनोवा कार की ऊंचाई कम होने के कारण उन्हें दिक्कत होती है। साथ ही इनोवा आरामदेह भी नहीं है, लिहाजा उन्हें फॉर्च्यूनर कार मुहैया कराई जाए। मुख्यमंत्री कुमारास्वामी ने सत्ता संभालने के बाद सरकारी वाहनों के काफिले को 37 तक सीमित करने का आदेश दिया था। मौजूदा 37 वाहनों में सिर्फ दो फॉर्च्यूनर कारें हैं, जिनकी कीमत इनोवा से तकरीबन दोगुनी है। ये दोनों कारें पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया के लिए आरक्षित हैं। कर्नाटक के सीएम ने अपने ही मंत्री की मांग पर अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। बता दें कि सीएम कुमारास्वामी ने सरकारी खर्च में कटौती को लेकर अभियान चलाया हुआ है। विपक्षी बीजेपी ने कर्नाटक के मंत्री के महंगे शौक की कड़ी आलोचना की है। वहीं, एक साथी कांग्रेसी नेता ने जमीर अहमद खान की मांग का बचाव किया है।

‘बचपन से बड़ी कार में चला हूं’: जमीर अहमद खान ने विधानसभा चुनाव से ठीक पहले जनता दल सेक्युलर से पाला बदलकर कांग्रेस में शामिल हो गए थे। इसको लेकर जेडीएस नेता कुमारास्वामी से उनके रिश्ते तल्ख हो गए थे। कांग्रेस-जेडीएस की गठबंधन की सरकार बनने के बाद हाल में ही दोनों के संबंध सामान्य हुए हैं। न्यूज एजेंसी पीटीआई के अनुसार, मध्य बेंगलुरु के चामराजपेट विधानसभा सीट से तीन बार विधायक निर्वाचित हुए जमीर ने कहा, ‘मैं बचपन से ही बड़ी कारों से चला हूं, लेकिन मुझे इनोवा कार दिया गया है। मैं इसमें खुद को आराम की स्थिति में नहीं पाता हूं, क्योंकि मैंने हमेशा से ज्यादा ऊंची कारों से सफर किया है। इनोवा की ऊंचाई कम है।’ कुमारास्वामी मुख्यमंत्री बनने के बाद भी अपनी निजी रेंज रोवर कार का ही इस्तेमाल करने का फैसला किया है। जमीर अहमद से जब पूछा गया कि वह अपने मुख्यमंत्री के नक्शे-कदम पर चलते हुए निजी कार का इस्तेमाल क्यों नहीं करते हैं तो उन्होंने इसका भी चौंकाने वाला जवाब दिया। उन्होंने कहा, ‘मैं चाहता हूं कि लोग जाने की मैं मंत्री हूं। मुख्यमंत्री कुमारास्वामी परिचय के मोहताज नहीं हैं। वह बेहद लोकप्रिय हैं। यदि मैं साधारण कार से चलूंगा तो क्या लोग मुझे पहचानेंगे? यदि में सरकारी वाहन से चलूंगा तो लोग कहेंगे कि देखो मंत्री जा रहा है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App