Karnataka: We have to find Muslims who recite slogans in support for Pakistan says BJP MLA Sanjay Patil - फिर बोले बीजेपी विधायक- पाकिस्‍तान जिंदाबाद के नारे लगाने वालें मुसलमानों को ढूंढना है - Jansatta
ताज़ा खबर
 

फिर बोले बीजेपी विधायक- पाकिस्‍तान जिंदाबाद के नारे लगाने वालें मुसलमानों को ढूंढना है

पाटिल की इस टिप्पणी से एक दिन पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी पार्टी के सांसदों और विधायकों से बड़बोलापन दिखाने को लेकर चेताया था। पीएम ने कहा था, “हम गलतियां करते हैं और मीडिया को मसाला देते हैं। हम जैसे ही कैमरा सामने देखते हैं तो फौरन बयान देने लगते हैं।"

बेलागावी ग्रामीण से भाजपा विधायक संजय पाटिल। (Photo: Twitter Profile)

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के एक नेता ने फिर से विवादित बयान दिया है। कर्नाटक के बेलागावी (ग्रामीण) से विधायक संजय पाटिल ने कहा है कि पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने वाले मुसलमानों को ही भारत में ढूंढना है। पाटिल की इस टिप्पणी से एक दिन पहले (22 अप्रैल) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी पार्टी के सांसदों और विधायकों से बड़बोलापन दिखाने को लेकर चेताया था।

पीएम ने कहा था, “हम गलतियां करते हैं और मीडिया को मसाला देते हैं। हम जैसे ही कैमरा सामने देखते हैं तो फौरन बयान देने लगते हैं। ठीक उसी तरह जैसे हम कोई महान सामाजिक वैज्ञानिक या विशेषज्ञ हों…और फिर इन्हीं अनजान बयानों को मीडिया इस्तेमाल करती है। यह मीडिया की गलती नहीं है।”

PM ने BJP सांसदों, विधायकों से कहा- मीडिया को मसाला न दें

सोमवार को पाटिल ने कहा, “कोई तो मुसलमान है, जो पाकिस्तान के नारे लगाता है। कोई तो मुस्लिम है, जो क्रिकेट मैच में पाकिस्तान के जीतने पर पटाखे फोड़ता है। कोई तो है, जो पाकिस्तानी झंडा हाथ में लहराते हुए घूमता है। भारत में उसी को तो ढूंढना है।”

बीजेपी विधायक ने इससे पहले एक और आपत्तिजनक बयान दिया था, जिस पर उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज हो गई थी। उन्होंने कहा था, “कर्नाटक चुनाव सड़क और पानी के मुद्दे पर नहीं, बल्कि हिंदू और मुसलमान के बीच हो रहा है।” हालांकि, बाद में उन्होंने इस पर सफाई भी दी थी। बोले थे, “मेरे बयान को तोड़-मरोड़ कर पेश किया गया।”

BJP विधायक बोले- जिन्‍हें बाबरी मस्जिद चाहिए वो कांग्रेस को वोट दें, राम मंदिर चाहिए तो भाजपा को

पाटिल ने इस बाबत एक हिंदी टीवी चैनल से बातचीत की। आगे बताया, “विकास सिर्फ सड़क और सीवर से नहीं होता है। धर्म और संस्कृति की रक्षा की जिम्मेदारी भी नेताओं पर होती है। हिंदू बनाम मुस्लिम कराकर चुनाव नहीं हो सकता। मगर कोई मुस्लिम देश के खिलाफ काम करेगा तो उसे रोकने काम काम हमारा है।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App