ताज़ा खबर
 

निर्मला सीतारमण से बोले कर्नाटक के मंत्री- जल्दी खत्म करें प्रेस कॉन्फ्रेंस, भड़कीं रक्षा मंत्री

कर्नाटक के बाढ़ प्रभावित कोडागू जिले के दौरे के दौरान रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण और कर्नाटक के मंत्री एस आर महेश के बीच शुक्रवार को यात्रा कार्यक्रम को लेकर बहस हो गई। जिला आयुक्त कार्यालय में अधिकारियों और मीडिया की मौजूदगी में यह घटना हुई।

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण। (PTI file photo)

कर्नाटक के बाढ़ प्रभावित कोडागू जिले के दौरे के दौरान रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण और कर्नाटक के मंत्री एस आर महेश के बीच शुक्रवार को यात्रा कार्यक्रम को लेकर बहस हो गई। जिला आयुक्त कार्यालय में अधिकारियों और मीडिया की मौजूदगी में यह घटना हुई। महेश ने कम वक्त की दलील देते हुए प्रेस कॉन्फ्रेंस जल्दी खत्म करने के लिए कहा था। इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में दोनों मीडिया से बातचीत कर रहे थे। जिला प्रभारी मंत्री महेश ने उनसे कहा कि समीक्षा बैठक के लिए अधिकारी उनका इंतजार कर रहे हैं और उन सबको पुनर्वास कार्य के लिए जाना है। उन्होंने कहा कि वह पहले अधिकारियों से बात कर लें, जिसपर सीतारमण राजी भी हो गयीं। सीतारमण ने कहा, ‘मैंने प्रभारी मंत्री के कहे के हिसाब से किया। यहां केंद्रीय मंत्री, प्रभारी मंत्री को फॉलो कर रहे हैं। अद्भुत! आपके पास मेरे लिए मिनट-मिनट की लिस्ट है…मैं आपके कार्यक्रम के हिसाब से काम कर रही हूं।’ इसके बाद सीतारमण ने जानना चाहा कि कितने अधिकारी पुनर्वास कार्य में लगे हुए हैं और उन्होंने कहा कि वह नहीं चाहतीं कि कामकाज में बाधा आए।

बाद में मंत्री महेश ने आरोप लगाया कि कोडागू के लिए केंद्र से वित्तीय मदद की मांग की वजह से सीतारमण ने यह टिप्पणी की। बता दें कि रक्षा मंत्री सीतारमण ने शुक्रवार को कोडागू जिले में माडिकेरी के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया और अधिकारियों के साथ स्थिति की समीक्षा की। वह यहां एक बाढ़ राहत शिविर में भी गईं और उन्होंने वहां ठहरे बच्चों, युवाओं और उनके परिवारों से बातचीत की।

केरल से सटे इस जिले में मूसलाधार बारिश के बाद बाढ़ आ गई है और लोगों को राहत शिविरों में शरण लेनी पड़ी है। बाढ़ की वजह से 17 लोगों की जान चली गई है और भारी नुकसान भी हुआ है। कर्नाटक से राज्यसभा सदस्य सीतारमण इस बाढ़ प्रभावित जिले का दौरा करने वाले वालीं दूसरी केन्द्रीय मंत्री हैं। इससे पहले कर्नाटक से आने वाले केंद्रीय मंत्री डी वी सदानंद गौड़ा ने जिले का दौरा किया था। जिले में बाढ़ की वजह से 5000 से अधिक लोग बेघर हो गये हैं जहां बचाव एवं राहत जोर शोर से चल रहे हैं।

(भाषा इनपुट के साथ)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App