ताज़ा खबर
 

मनी लॉन्ड्रिंग केस: सोनिया के नजदीकी कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार से ED ने तीसरी बार की पूछताछ

कर्नाटक के वरिष्ठ कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार धनशोधन के मामले में पूछताछ के लिए तीसरी बार सोमवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के सामने पेश हुए।

नई दिल्ली | Updated: September 2, 2019 3:05 PM
कर्नाटक के वरिष्ठ कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार

कर्नाटक के वरिष्ठ कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार धनशोधन के मामले में पूछताछ के लिए तीसरी बार सोमवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के सामने पेश हुए। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि शिवकुमार खान मार्केट स्थित ईडी मुख्यालय में सुबह 11 बजे पहुंचे। जांच अधिकारियों ने उनसे शुक्रवार को चार घंटे और शनिवार को आठ घंटे तक पूछताछ की थी। अधिकारियों के मुताबिक पहले की गई पूछताछ के दौरान कर्नाटक के पूर्व कैबिनेट मंत्री ने धनशोधन निवारण कानून (पीएमएलए) के तहत अपना बयान दर्ज कराया। सोमवार को भी उनका बयान दर्ज किया जाएगा।

कर्नाटक विधानसभा के सदस्य शिवकुमार 30 अगस्त को पहली बार ईडी के सामने पेश हुए थे। विमान के जरिये बेंगलुरु से दिल्ली पहुंचने पर उन्होंने ईडी की जांच में सहयोग करने की बात कही थी। गौरतलब है कि गत गुरुवार को कर्नाटक उच्च न्यायालय ने ईडी के समन को चुनौती देने वाली शिवकुमार की याचिका खारिज कर दी थी जिसके बाद उन्हें एजेंसी के सामने पेश होना पड़ा।

शिवकुमार ने अपने ऊपर लगे आरोपों से इनकार किया है और कहा कि 2017 में गुजरात की राज्यसभा सीटों पर चुनाव के दौरान विधायकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने में अहम भूमिका निभाने के कारण राजनीतिक प्रतिशोध के तहत उनपर कार्रवाई की जा रही है। जांच एजेंसी ने पिछले साल सितंबर में शिवकुमार तथा नयी दिल्ली स्थित कर्नाटक भवन के एक कर्मी हनुमंथैया के खिलाफ धन शोधन का एक मामला दर्ज किया था।

यह मामला आयकर विभाग द्वारा शिवकुमार के खिलाफ पिछले साल दाखिल एक आरोपपत्र के आधार पर दर्ज किया गया है। बेंगलुरू की विशेष अदालत में दाखिल इस आरोपपत्र में शिवकुमार पर करवंचन तथा हवाला के जरिये करोड़ों रुपये का लेनदेन करने का आरोप लगाया गया है।

Next Stories
1 रक्षक बने गणेशः डेढ़ फुट तक गायब थी रेल की पटरी, छतरी दिखाकर रोक दी Mumbai Local, बचाईं सैकड़ों जिंदगियां
2 मुंह में घुसा था सिलेंडर का पाइप और पॉलीथीन में लिपटा था चेहरा, मानसिक तनाव से तंग छात्रा ने दर्दनाक तरीके से किया सुसाइड
3 इतिहासकार रोमिला थापर से बायोडेटा मांगकर निशाने पर JNU प्रशासन
यह पढ़ा क्या?
X