ताज़ा खबर
 

CM के खिलाफ चलाया था ‘भ्रष्टाचार’ को लेकर स्टिंग ऑपरेशन, अब चैनल के ठिकानों पर हुई तलाशी, एंकर से भी पूछताछ

चैनल ने अपनी खबर में कुछ दस्तावेज भी दिखाए थे, जो दिखाते हैं कि येदियुरप्पा परिवार के एक सदस्य के बैंक खाते में बड़ी संख्या में रकम जमा की गई है।

Author Edited By नितिन गौतम बेंगलुरू | Updated: September 29, 2020 10:05 AM
bs yediyurappa karnataka bengaluruकर्नाटक के सीएम बीएस येदियुरप्पा। (एपी/फाइल फोटो)

बेंगलुरू पुलिस ने सोमवार को एक निजी टीवी चैनल के अधिकारियों के खिलाफ जांच शुरू कर दी है। दरअसल चैनल ने बीते दिनों सीएम बीएस येदियुरप्पा के परिवार का एक स्टिंग अपने चैनल पर दिखाया था, जिसमें सीएम के परिवार के लोग कथित भ्रष्टाचार में शामिल दिखाए गए हैं। पुलिस ने सोमवार को टीवी चैनल पावर टीवी के ऑफिस की तलाशी ली और साथ ही चैनल मैनेजिंग डायरेक्टर और एडिटर राकेश शेट्टी के घर को भी खंगाला।

बेंगलुरू पुलिस ने चैनल के एक एंकर से भी पूछताछ की है। चैनल ने एक कंस्ट्रक्शन कंपनी के निदेशक से कथित तौर पर मिली जानकारी के आधार पर यह खबर प्रसारित की थी, उसी कंस्ट्रक्शन कंपनी के निदेशक की शिकायत पर ही पुलिस ने इस मामले की जांच शुरू कर दी है। बता दें कि चैनल ने बीते माह इस मामले पर कार्यक्रमों की एक पूरी सीरीज चलायी थी, जिसमें एक स्टिंग ऑडियो भी प्रसारित की गई थी।

यह स्टिंग ऑडियो कथित तौर पर चैनल के एमडी और एडिटर राकेश शेट्टी और बीएस येदियुरप्पा परिवार के एक अहम सदस्य के बीच का बताया गया था। इसके अलावा चैनल ने अपनी खबर में येदियुरप्पा परिवार के एक अन्य सदस्य और कंस्ट्रक्शन फर्म के निदेशक के बीच की व्हाट्सएप चैट को भी दिखाया था।

इसके साथ ही चैनल ने अपनी खबर में कुछ दस्तावेज भी दिखाए थे, जो दिखाते हैं कि येदियुरप्पा परिवार के एक सदस्य के बैंक खाते में बड़ी संख्या में रकम जमा की गई है।

वहीं स्टिंग के खुलासे के बाद विपक्षी पार्टियों ने सीएम बीएस येदियुरप्पा से इस्तीफे की मांग शुरू कर दी है। विपक्षी पार्टियों ने सुप्रीम कोर्ट के मौजूदा जज द्वारा या फिर एक स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम बनाकर मामले की जांच कराने की भी मांग की है, जिसे कर्नाटक हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस मॉनीटर करें।

वहीं सीएम येदियुरप्पा ने विपक्ष को उन पर लगे आरोपों को सिद्ध करने की चुनौती दी है। हालांकि चैनल के खिलाफ पुलिस की कार्रवाई पर उन्होंने कोई भी प्रतिक्रिया देने से इंकार कर दिया।

बता दें कि इस स्टिंग पर विवाद की शुरुआत उस वक्त हुई, जब रामालिंगम कंस्ट्रक्शन कंपनी लिमिटेड के निदेशक चंद्रकांत रामालिंगम ने इस मामले में बीती 24 सितंबर को शिकायत दर्ज करायी। अपनी शिकायत में रामालिंगम ने कहा कि चैनल वालों ने उनसे जबरन यह कहलवाया कि मैंने राजनीतिक लोगों को रकम का भुगतान किया है और फिर मेरी इस बात को रिकॉर्ड कर लिया। फिलहाल पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Bihar Elections 2020: 2015 के फॉर्म्युले पर मिलकर लड़ेंगी RJD और Congress? बोली लालू की पार्टी- 58 सीट से ज्यादा नहीं देंगे
2 हमारी विरासत: पेट के लिए हल, खेत के लिए जल, परंपरागत साधन और समाधान
3 मध्य प्रदेश: हटाए गए पत्नी को पीटने वाले वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी पुरुषोत्तम शर्मा, गृह मंत्रालय ने दिया 24 घंटे का अल्टीमेटम!
IPL 2020 LIVE
X