ताज़ा खबर
 

कावेरी विवाद: कर्नाटक बंद से सामान्य जन-जीवन प्रभावित

कन्नड समर्थक संगठनों द्वारा सुबह से शाम तक कर्नाटक बंद के आह्वान से शुक्रवार (9 सितंबर) को बेंगलुरु समेत राज्य के अधिकतर स्थानों का जनजीवन प्रभावित रहा।

Author नई दिल्ली | September 9, 2016 11:25 PM
कावेरी नदी।

कन्नड समर्थक संगठनों द्वारा सुबह से शाम तक कर्नाटक बंद के आह्वान से शुक्रवार (9 सितंबर) को बेंगलुरु समेत राज्य के अधिकतर स्थानों का जनजीवन प्रभावित रहा। कन्नड़ समर्थक संगठन तमिलनाडु के लिए कावेरी जल छोड़ने के उच्चतम न्यायायलय के निर्देशों का विरोध कर रहे हैं। इन संगठनों के कुछ कार्यकर्ताओं को केंपेगौड़ा अन्तराष्ट्रीय हवाईअड्डे के प्रस्थान टर्मिटल और रेलवे स्टेशन में घुसने के प्रयास के दौरान पुलिस ने रोक लिया और उन्हें हिरासत में ले लिया। बंद के दौरान राज्य की परिवहन सेवायें बाधित रहीं। सरकारी बसें सड़कों से नदारद रहीं, जबकि आटो-रिक्शा और कैब संगठनों ने भी इस बंद का समर्थन किया है।

देश के आईटी हब कहे जाने वाले शहर बेंगलुरु की मैट्रो सेवायें भी बंद के दौरान स्थगित रहीं। विभिन्न स्थानों से बेंगलुरु पहुंचने वाले और हवाईअड्डे की ओर जाने वाले लोगों को अपने गंतव्य तक के सफर के दौरान कठिनाई का सामना करना पड़ा। शहर के शैक्षिक संस्थानों ने शुक्रवार को अपने यहां अवकाश की घोषणा की है। सरकारी कार्यालयों में भी आज (शुक्रवार, 9 सितंबर) कर्मचारियों की उपस्थिति कम रही।

कुछ निजी कंपनियों ने भी आज अपने यहां अवकाश घोषित कर रखा है, जबकि कुछ कंपनियों ने कर्मचारियों के लिए ‘घर से काम’ करने का विकल्प भी दिया है। पेट्रोल पंप, होटल, मॉल और अन्य व्यावसायिक प्रतिष्ठान भी बंद रहे, जबकि बैंकों का काम-काज भी प्रभावित है। कर्नाटक केबल ऑपरेटर एसोसिएशन ने कहा है कि आज (शुक्रवार, 9 सितंबर) तमिल टीवी चैनलों का प्रसारण नहीं किया जाएगा। केबल आपरेटर एसोसिएशन भी बंद का समर्थन कर रहा है। राज्य के अन्य क्षेत्रों मांड्या, मैसूर, बेल्लारी, कोप्पाला, चिक्काबल्लापुरा, धारवाड़ और कोलार में भी बंद का सकारात्मक असर दिखाई दिया ।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App