ताज़ा खबर
 

विरोध प्रदर्शन के बीच सीएम येदियुरप्पा बोले- नतीजों के लिए 6 महीने तक इंतजार करें

किसान नए कृषि विधेयक के साथ ही बीएस येदियुरप्पा सरकार द्वारा लगाए नए भूमि अधिग्रहण कानून का भी विरोध कर रहे हैं। वहीं किसान संगठनों को विरोध प्रदर्शन को कांग्रेस और जेडीएस ने भी समर्थन दिया है।

karnataka bandh farmers protest agriculture bill land reforms karnatakaबेंगलुरू में भूमि सुधार कानून के विरोध में प्रदर्शन करते किसान। (पीटीआई फोटो)

कर्नाटक में बढ़ते विरोध प्रदर्शन के बीच सीएम बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि उन्होंने विभिन्न किसान संगठनों के नेताओं से बात करने की कोशिश की थी लेकिन उन्होंने पहले से ही विरोध प्रदर्शन करने का फैसला कर लिया है। एक किसान का बेटा होने के नाते मैं किसानों की तरफ हूं। कृषि विधेयकों में संशोधन एक लंबी चर्चा के बाद किया गया है। सीएम ने किसानों से इन विधेयकों के नतीजे देखने के लिए 6 माह तक इंतजार करने की अपील की है।

कर्नाटक में विभिन्न किसान संगठनों ने सोमवार को राज्य बंद का ऐलान किया है। कई किसान संगठनों ने आज राज्य में सड़कों को जाम कर दिया है। वहीं कांग्रेस ने सीएम येदियुरप्पा से नए बिल को वापस लेने की मांग की है। किसानों के विरोध प्रदर्शन के चलते बेंगलुरू में आम जनजीवन प्रभावित हुआ है।

बता दें कि बीएस येदियुरप्पा सरकार द्वारा लाए गए कृषि उत्पाद बाजार समिति और भूमि सुधार कानून में संशोधन से किसानों में नाराजगी है। वहीं किसान संगठनों को विरोध प्रदर्शन को कांग्रेस और जेडीएस ने भी समर्थन दिया है। साथ ही मजदूर संगठन भी इस बिल के विरोध में आ गए हैं। कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने सीएम बीएस येदियुरप्पा से कानून को वापस लेने और माफी मांगने को कहा है। बंद के चलते राज्य की सड़कें सुनसान दिखाई दे रही हैं और किसी भी स्थिति से निपटने के लिए सुरक्षा बलों की भारी तैनाती की गई है।

Live Blog

Highlights

    14:23 (IST)28 Sep 2020
    राष्ट्रपति की मंजूरी मिलने से उग्र हुए किसान

    नए कृषि कानूनों के विरोध में आज दिल्ली स्थित इंडिया गेट पर गुस्साए किसानों ने एक ट्रैक्टर में आग लगा दी। वीआईपी इलाके में हुई इस घटना से अफरा-तफरी का माहौल बन गया। इसके बाद पुलिस और अग्निशमन विभाग ने आग को बुझाया और स्थिति को नियंत्रण में किया। वहीं इस घटना के विरोध में पांच लोगों को हिरासत में भी लेने की खबर है। रविवार को कृषि विधेयकों को राष्ट्रपति की मंजूरी मिल गई है, जिसके कारण किसान उग्र हो गए हैं।

    13:42 (IST)28 Sep 2020
    राहुल गांधी पंजाब में किसानों के समर्थन में करेंगे रैली

    पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी नए कृषि कानून के खिलाफ इस हफ्ते पंजाब में जारी विरोध प्रदर्शनों में शामिल हो सकते हैं। राहुल गांधी इस दौरान एक रैली को भी संबोधित करेंगे। हालांकि अभी तक इसकी तारीख और जगह तय नहीं है। एक कांग्रेसी नेता ने बताया कि पंजाब के बाद राहुल गांधी हरियाणा में भी जारी किसान विरोध प्रदर्शन में शामिल होंगे और उन्हें अपना समर्थन देंगे। कांग्रेस पार्टी कृषि कानून के खिलाफ दो माह का राष्ट्रव्यापी आंदोलन कर रही है और राहुल गांधी की रैलियां इसी आंदोलन का हिस्सा होंगी।

    12:54 (IST)28 Sep 2020
    किसानों की आवाज संसद और बाहर दोनों जगह दबाई गई: राहुल गांधी

    कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कृषि संबंधी कानूनों को लेकर सोमवार को सरकार पर फिर निशाना साधा और आरोप लगाया कि किसानों की आवाज संसद और बाहर दोनों जगह दबाई गई। उन्होंने राज्यसभा में इन विधेयकों को पारित किए जाने के दौरान हुए हंगामे से जुड़ी एक खबर शेयर करते हुए ट्वीट किया, ‘‘कृषि संबंधी कानून हमारे किसानों के लिए मौत का फरमान हैं। उनकी आवाज संसद और बाहर दोनों जगह दबाई गई। यहां इस बात का सबूत है कि भारत में लोकतंत्र खत्म हो गया है।’’ कांग्रेस नेता ने जिस खबर का हवाला दिया उसमें दावा किया गया है कि राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश ने कहा था कि सदन में कृषि संबंधी विधेयकों पर मतदान की मांग करते समय विपक्षी सदस्य अपनी सीट पर नहीं थे, लेकिन राज्यसभा टीवी की फुटेज से इसकी उलट बात साबित होती है।

    12:33 (IST)28 Sep 2020
    किसानों ने इंडिया गेट पर फूंका ट्रैक्टर

    नए कृषि कानूनों के विरोध में आज किसानों ने दिल्ली के इंडिया गेट पर एक ट्रैक्टर में आग लगा दी। इसके चलते पुलिस ने पांच लोगों को हिरासत में लिया है। बता दें कि नए कृषि कानूनों को देशभर के किसान विरोध कर रहे हैं। 

    12:18 (IST)28 Sep 2020
    बेंगलुरू में सड़कों पर उतरे किसान संगठन

    कर्नाटक के किसान संगठन रायथा संघ और हसिरू सेना ने बेंगलुरू में विरोध प्रदर्शन किया।

    11:55 (IST)28 Sep 2020
    राज्य सरकार ने कहा- जबरन बंद लागू करने वालों के खिलाफ होगी सख्त कार्रवाई

    राज्य सरकार ने कहा कि बंद के चलते आम जनजीवन से संबंधित कार्यालय और प्रतिष्ठानों के संचालन को प्रभावित नहीं होने दिया जाएगा। साथ ही सरकार ने कहा है कि जबरन बंद लागू कराने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

    11:15 (IST)28 Sep 2020
    प्रदर्शनकारियों ने दुकानदारों को फूल देकर अपना विरोध जताया

    कर्नाटक के किसान संगठनों ने हुबली जिले में दुकानदारों को फूल देकर अपना विरोध जताया। दरअसल किसान संगठनों ने सोमवार को राज्य बंद का आह्वान किया था। यही वजह है कि प्रदर्शनकारियों ने दुकानदारों को फूल देकर समर्थन मांगा।

    10:35 (IST)28 Sep 2020
    प्रदर्शनकारियों ने हुबली में सड़क जाम की

    बिल के विरोध में प्रदर्शनकारियों ने हुबली में सड़क जाम कर दी है। प्रदर्शनकारी सड़क पर बैठ गए हैं, जिससे वहां भारी जाम लग गया है।

    10:34 (IST)28 Sep 2020
    कृषि बिल का विधानसभा में भी हुआ था विरोध

    बीएस येदियुरप्पा सरकार द्वारा पास किए गए विधेयकों का विधानसभा में भी विपक्षी पार्टियों ने जमकर विरोध किया था। कई कन्नड़ संगठन इन विधेयक का विरोध कर रहे हैं।

    10:32 (IST)28 Sep 2020
    कर्नाटक की सड़कों पर पसरा सन्नाटा, भारी पुलिस बल तैनात

    कर्नाटक में विभिन्न किसान संगठनों ने सोमवार को राज्य बंद का ऐलान किया है। यह बंद बीएस येदियुरप्पा सरकार द्वारा लाए गए कृषि उत्पाद बाजार समिति और भूमि सुधार कानून में संशोधन के विरोध में बुलाया गया है। बंद के चलते राज्य की सड़कें सुनसान दिखाई दे रही हैं और किसी भी स्थिति से निपटने के लिए सुरक्षा बलों की भारी तैनाती की गई है।

    Next Stories
    1 बिहार चुनाव: मोदी के सामने भाजपाइयों में मारपीट, पुलिस ने सुरक्षित निकाला; प्रदेश अध्यक्ष के दफ़्तर में कैद हुए कांग्रेस नेता
    2 चुनाव से पहले BJP की नई टीम में एपी अब्दुल्लाकुट्टी बने उपाध्यक्ष, पर पार्टी अंदरखाने में ही विरोध; RSS भी बोला- बाहरियों पर ध्यान, पर अंदर वाले नजरअंदाज
    3 शोध: दुनिया में कम हो रहा भूजल स्तर जखनी की मेड़बंदी विधि ने बदले हालात सूखे खेतों में लहलहाईं फसलें, कुएं भरे
    IPL Records
    X