कर्नाटकः क्रिश्चियन समुदाय के प्रार्थना स्थल में जबरन जा घुसे बजरंग दल के कार्यकर्ता, जानें पूरा मामला

वीडियो में बजरंग दल के सदस्य को एक प्रार्थना कक्ष में घुसते और बीच में एक कार्यक्रम को रोकते हुए देखा जा सकता है। इस दौरान ईसाई समुदाय की कुछ महिलाओं के साथ उनकी बहस भी होती है।

belur christian hall, karnataka, Bajrang dal
क्रिश्चियन समुदाय के प्रार्थना स्थल में जबरन जा घुसा बजरंग दल के कार्यकर्ता (फोटो- वीडियोस्क्रीन शॉट)

रिपोर्ट-दर्शन देवैया बीपी: कर्नाटक में एक बार फिर से धार्मिक विवाद देखने को मिल रहा है। राज्य में एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। आरोप है कि क्रिश्चियन समुदाय के प्रार्थना स्थल में बजरंग दल के कार्यकर्ता जबरस्ती घुस गए।

कर्नाटक के हासन जिले की ये घटना बताई जा रही है। वीडियो में बजरंग दल के सदस्य को एक प्रार्थना कक्ष में घुसते और बीच में एक कार्यक्रम को रोकते हुए देखा जा सकता है। वीडियो में बजरंग दल के सदस्य, बेलूर में प्रार्थना कक्ष से लोगों को जबरन बाहर निकालते दिख रहे हैं। इस दौरान ईसाई समुदाय की कुछ महिलाओं के साथ उनकी बहस भी होती है। बजरंग दल के कार्यकर्ताओं की इस कार्रवाई के दौरान जबरदस्त हंगामा भी होता दिख रहा है। इस दौरान नारेबाजी भी सुनी जा सकती है।

बेलूर पुलिस के अधिकारियों ने द इंडियन एक्सप्रेस को घटना की पुष्टि करते हुए कहा कि दोनों ओर से कोई शिकायत दर्ज नहीं की गई है। निरीक्षक के एम योगेश ने कहा “घटना रविवार की है। हम मौके पर पहुंचे और दोनों पक्षों को चेतावनी दी”।

वहीं इन विवादों के बीच कर्नाटक सरकार 13 दिसंबर से शुरू हो रहे अगले विधानसभा सत्र में धर्मांतरण विरोधी विधेयक पेश कर सकती है। इससे पहले, बेंगलुरु के आर्कबिशप रेवरेंड पीटर ने प्रस्तावित विधेयक का विरोध करते हुए मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई को पत्र लिखा था।

इस साल सितंबर से अब तक तीन बार मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपा जा चुका है। ज्ञापन में कहा गया है कि राज्य में ईसाई समुदाय एक स्वर में जबरन धर्मांतरण पर प्रतिबंध लगाने के प्रस्तावित कानून का विरोध करता है।

यह पहली बार नहीं है जब इस तरह के मामले सामने आए हैं। इस साल अक्टूबर में भी इसी तरह की एक घटना का वीडियो वायरल हुआ था। इसमें बजरंग दल और विश्व हिंदू परिषद के सदस्यों ने कर्नाटक के हुबली में एक अस्थायी चर्च के अंदर भजन गाए थे। इस मामले को लेकर भी बहुत विवाद हुआ था।

पढें राज्य समाचार (Rajya News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट