ताज़ा खबर
 

गायों की रक्षा के लिए संगठन का सुबह प्रदर्शन, रात में गौ तस्करी में गिरफ्तार हुआ बजरंग दल कार्यकर्ता

कर्नाटक के दक्षिण कन्नड़ जिले के विट्टलपदनूर में पुलिस ने दो लोगों को गौ तस्करी के आरोप में दबोचा है, कहा जा रहा है दोनों में से एक आरोपी गौ तस्करी और गौहत्या के खिलाफ आवाज बुलंद करने वाले बजरंग दल का सदस्य है। स्थानीय मीडिया की खबर के मुताबिक बीते गुरुवार की सुबह इलाके में गौहत्या और गौ तस्करी के खिलाफ हिंदुत्ववादी संगठनों बजरंग दल और विश्व हिंदू परिषद के लोगों ने प्रदर्शन किया था।

तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है। (Express Photo)

कर्नाटक के दक्षिण कन्नड़ जिले के विट्टलपदनूर में पुलिस ने दो लोगों को गौ तस्करी के आरोप में दबोचा है, कहा जा रहा है दोनों में से एक आरोपी गौ तस्करी और गौहत्या के खिलाफ आवाज बुलंद करने वाले बजरंग दल का सदस्य है। स्थानीय मीडिया की खबर के मुताबिक बीते गुरुवार की सुबह इलाके में गौहत्या और गौ तस्करी के खिलाफ हिंदुत्ववादी संगठनों बजरंग दल और विश्व हिंदू परिषद के लोगों ने प्रदर्शन किया था। इन लोगों की अपील थी के पुलिस ऐसे कार्यों में लिप्त लोगों पर सख्ती से कार्रवाई करे और वाहनों की चेंकिंग में कोताही न बरती जाए। इन लोगों ने इलाके के मुस्लिमों से भी आग्रह किया था कि गौहत्या और गौ तस्करी न हो, इसके लिए वे अपने समुदाय के लिए फतवा जारी करें। उसी दिन रात के वक्त कदांबू जंक्शन नामक इलाके के पास पुलिस अधिकारियों की नजर में एक अशोक लेयलेंड पिक अप ट्रक चढ़ गया। रात के करीब 11 बजे तलाशी लिए जाने पर उसमें से कथित तौर पर चार गायें और एक बछड़ा मिला।

पुलिस ने मौके से 48 वर्षीय शशिकुमार और उसके 21 वर्षीय ड्राइवर अब्दुल हरीश को गिरफ्तार कर लिया। द न्यूज मिनट की खबर के मुताबिक पुलिस ने पुष्टि की है कि शशिकुमार बजरंग दल का सदस्य है और विट्टलपदनूर जिले का रहने वाला है जबकि अब्दुल का गौ तस्करी में रिकॉर्ड मिला है। पुलिस के मुताबिक गायों और बछड़े को ले जाने के लि ट्रक को मोडीफाइड किया गया था। ट्रक को इस प्रकार तैयार किया गया था कि बाहर से अंदाजा न लग पाए कि उसके भीतर क्या है।

पुलिस के मुताबिक दोनों आरोपियों के खिलाफ पशु अधिनियम और गाय वध रोकथाम अधिनियम की उचित धाराओं और भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 379 (चोरी) के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। पिक अप को इस तरह डिजाइन किया गया था कि उसकी बॉडी उठाई जा सके। एक आरोपी शशिकुमार बजरंग दल का सदस्य पाया गया है। जिले में बजरंग के द्वारा अर्से गायों की रक्षा के लिए कानूनों को कठोर बनाने की मांग के तहत प्रदर्शन किए जाते रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App