ताज़ा खबर
 

”कर्नाटक में बीजेपी की सरकार को लेकर RSS के राज्यपाल ने घोंटा संविधान का गला”

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने संविधान को ‘‘ तोड़ने - मरोड़ने ’’ के लिए आज कर्नाटक के राज्यपाल वजुभाई वाला की आलोचना की।

Author चंडीगढ़ | May 17, 2018 5:43 PM
पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने संविधान को ‘‘ तोड़ने – मरोड़ने ’’ के लिए आज कर्नाटक के राज्यपाल वजुभाई वाला की आलोचना की। वाला को ‘‘ आरएसएस का राज्यपाल ’’ करार देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि वाला ने भारतीय जनता पार्टी ( भाजपा ) में अपने ‘‘ राजनीतिक आकाओं ’’ की ‘‘ इच्छा का पालन करने में भारतीय लोकतांत्रिक राजनीति का नरसंहार कर दिया है। ’’ उन्होंने मीडिया से कहा , ‘‘ राज्यपाल ने जिस तरीके से भाजपा को समय दिया वह निराशाजनक है ताकि विपक्ष को तोड़ा जा सके और खरीद – फरोख्त हो सके।

आरएसएस के राज्यपाल से आप और क्या उम्मीद कर सकते हैं। ’’ उन्होंने पूरे प्रकरण को ‘‘ दुर्भाग्यपूर्ण ’’ करार दिया और कहा कि पिछले 24 घंटे के प्रकरण देश के लिए काफी खतरनाक हैं। उन्होंने कहा , ‘‘ हम नहीं चाहते कि भारत पाकिस्तान की तरह बने जहां तानाशाह और सेना हर कदम पर लोकतंत्र का गला घोंटते हैं।

कांग्रेस व जनता दल (सेक्युलर) के नेताओं ने गुरुवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता बी. एस. येदियुरप्पा के कर्नाटक के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया और इसे असंवैधानिक बताया। चुनाव बाद बने कांग्रेस व जेडीएस गठबंधन के नेताओं ने राज्यपाल वजुभाई वाला द्वारा राजभवन में येदियुरप्पा को मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाए जाने के बाद विधानमंडल भवन के सामने विरोध प्रदर्शन किया।

कांग्रेस की राज्य इकाई के अध्यक्ष जी. परमेश्वर ने यहां संवाददाताओं से कहा, “संवैधानिक रूप से हमें (जेडीएस और कांग्रेस को) सरकार बनाने का मौका दिया जाना चाहिए क्योंकि हमारे पास विधानसभा में बहुमत है।” परमेश्वर ने कहा, “राज्यपाल द्वारा सरकार बनाने के लिए भारतीय जनता पार्टी को आमंत्रित करने का निर्णय संविधान के खिलाफ है।”

विरोध प्रदर्शन करने वाले नेताओं में पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया, कांग्रेस के महासचिव के.सी. वेणुगोपाल, वरिष्ठ कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद, कांग्रेस और जेडीएस के कई नव निर्वाचित विधायक शामिल थे। सिद्धारमैया ने संवाददाताओं से कहा कि येदियुरप्पा को पहले सदन में बहुमत साबित करने वाली सूची प्रस्तुत करने की जरूरत है।

जेडीएस सुप्रीमो एच.डी. देवेगौड़ा भी प्रदर्शन में शामिल हुए जहां पार्टी के राज्य अध्यक्ष एच.डी. कुमारस्वामी ने ‘लोकतंत्र के विध्वंस के लिए’ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार पर हमला बोला। कुमारस्वामी ने कहा, “मोदी सरकार विपक्षी दलों को निशाना बनाकर लोकतंत्र का विध्वंस करना चाहती है। जब जेडीएस और कांग्रेस के पास बहुमत है, तो हमें राज्यपाल द्वारा सरकार बनाने के लिए आमंत्रित क्यों नहीं किया गया।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 सरकार ने रोका अभ‍ियान, पर दोगुना बढ़े रमजान से पहले डेढ़ महीने में आतंकी बनने वाले कश्‍मीर‍ी
2 West Bengal Election Result 2018: तृणमूल ने जीतीं ग्राम पंचायत की 2,467 सीटें