ताज़ा खबर
 

कर्नाटकः मांड्या के पास नहर में गिरी बस, पांच बच्चों समेत 25 की मौत; ड्राइवर-कंडक्टर फरार

हादसे के बाद आसपास के लोग फौरन घटनास्थल पर पहुंचे, जिसके बाद उन्होंने बस को रस्सी की मदद से नहर से बाहर निकालने का प्रयास किया।

मांड्या के पास नहर में गिरी बस को बाहर निकालने की कोशिश करते स्थानीय लोग।

कर्नाटक में शनिवार (24 नवंबर) सुबह बड़ा सड़क हादसा हो गया। बेंगलुरू से लगभग 105 किलोमीटर दूर मांड्या जिला स्थित वीसी नहर में यात्रियों से भरी एक प्राइवेट बस जा गिरी। हादसे में पांच बच्चों समेत 25 लोगों की मौत हो गई, जबकि कई लोग गंभीर रूप से जख्मी हुए। पुलिस के अनुसार, बस मोड़ने के दौरान ड्राइवर बस से नियंत्रण खो बैठा था, जिसके कारण यह दर्दनाक हादसा हुआ। घटना के वक्त बस की रफ्तार इतनी तेज थी कि यात्री भी कुछ समझ न सके। घटना के दौरान अधिकतर यात्री बस के अंदर ही फंसे रह गए, जबकि 12 ने नहर में कूद कर जान बचा ली।

चश्मदीदों के मुताबिक, ड्राइवर और कंडक्टर भी नहर में कूदे थे, जो पलक झपकते वहां से फरार हो गए। कुछ ही देर बाद आधे से ज्यादा बस का हिस्सा डूब गया था। आस-पास के लोगों ने इस बारे में स्थानीय पुलिस और एंबुलेंस को सूचना दी, जिसके बाद रेसक्यू टीम ने बस को रस्सी की मदद से नहर से बाहर निकालने का प्रयास किया। वहीं, घायलों को नजदीकी अस्पताल ले जाया गया। Bus Fall in Canal, 15 Deaths, Road Accident, Bus, Fall, VC Canal, Mandya, Karnataka, State News, Hindi News

स्थानीय रिपोर्ट्स के मुताबिक, बस में 40 से अधिक यात्री थे, जिनमें से 12 ने कूद कर जान बचाई। कर्नाटक के डिप्टी सीएम जी.परमेश्वर ने मृतकों के आंकड़े की पुष्टि की। उनके मुताबिक, ड्राइवर ठीक से बस नहीं चला रहा था। हालांकि, अभी जांच-पड़ताल जारी है। गांव वालों ने घटना के बाद एक बच्चे की जान बचाई है।

वहीं, कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने कबीना मंत्री व डिप्टी कमिश्नर को घटनास्थल व रेस्क्यू ऑपरेशन का जायजा लेने के तत्काल निर्देश जारी किए।  उन्होंने इसके बाद अपने दिन के सभी कार्यक्रम व बैठकें रद्द करते हुए मौके पर जाने की बात कही है।

उधर, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस घटना पर खेद प्रकट किया है। ट्वीट कर वह बोले, “मुझे मांड्या जिले में हुए हादसे को सुनकर बेहद बुरा लगा, जिसमें कई की जान गई, जबकि कई घायल हुए। मेरी संवेदना मृतकों व जख्मी लोगों के परिजन के साथ हैं। मैं आशा करता हूं कि घायल जल्द से जल्द ठीक हों।”

बता दें कि बीते आठ दिनों में यहां यह इस तरह का दूसरा हादसा है। इससे पहले, हुबली के पास नेशनल हाईवे 63 पर करीब छह सैलानियों की मौत हो गई थी, जबकि 10 लोग गंभीर रूप से जख्मी हुए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App