ताज़ा खबर
 

पूर्व मंत्री ने अरविंद केजरीवाल को खून से लिखी चिट्ठी, दी आमरण अनशन की धमकी

कपिल मिश्रा ने ट्विटर पर खून से लिखा खत पोस्ट करते हुए कहा है कि अगर दिल्ली सरकार, डीडीए और ईडीएमसी द्वारा कल यानी गुरुवार को एनजीटी में लैंडफिल का विरोध नहीं किया गया तो वह 5 मई से आमरण अनशन पर बैठेंगे।

अरविंद केजरीवाल को कपिल मिश्रा ने खून से चिट्ठी लिखी (फोटो सोर्स- एक्सप्रेस आर्काइव फोटो/एएनआई फोटो)

दिल्ली सरकार के पूर्व मंत्री कपिल मिश्रा ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपराज्यपाल अनिल बैजल को खून से खत लिखा है। मिश्रा ने एनजीटी में लैंडफिल का विरोध करने को लेकर यह कदम उठाया है। साथ ही उन्होंने आमरण अनशन करने की भी धमकी दी है। कपिल मिश्रा ने ट्विटर पर खून से लिखा खत पोस्ट करते हुए कहा है कि अगर दिल्ली सरकार, डीडीए और ईडीएमसी द्वारा कल यानी गुरुवार को एनजीटी में लैंडफिल का विरोध नहीं किया गया तो वह 5 मई से आमरण अनशन पर बैठेंगे। दरअसल, कल एनजीटी में कपिल द्वारा लैंडफिल के विरोध में दायर की गई याचिक पर सुनवाई की जा रही है।

कपिल ने खत में केजरीवाल और बैजल को संबोधित करते हुए लिखा कि कृपया करके वे यमुना नदी पर लैंडफिल का विरोध करें। उन्होंने लिखा कि लैंडफिल कैंसर के बराबर है और कैंसर मतलब मौत होता है। कपिल ने कहा, ‘लैंडफिल से यमुना नदी दूषित हो जाएगी, अंडरग्राउंड वाटर भी जहरीला हो जाएगा और यह सीधे तौर पर 25 लाख जिंदगियों को प्रभावित करेगा। मैं मांग करता हूं कि डीडीए, ईडीएमसी, सीपीसीबी और दिल्ली सरकार के पर्यावरण विभाग को लिखित तौर पर एनजीटी में इसका विरोध करना चाहिए।’

उन्होंने आगे लिखा, ‘सरकार के सभी विभागों के सरकारी वकील और पर्यावरण मंत्री कल एनजीटी कोर्ट में लिखित में दें कि सोनिया विहार में लैंडफिल नहीं बनेगा। अगर कल एनजीटी में दिल्ली सरकार के पर्यावरण मंत्री व पर्यावरण विभाग ने तथा डीडीए, ईडीएमसी ने लिखित में लैंडफिल का विरोध नहीं किया तो शनिवार 5 मई 2018 को सुबह 8 बजे से खजूरी चौक पर आमरण अनशन शुरू करूंगा। सरकार सपोर्ट में, पार्टी कोर्ट में नहीं चलेगा।’ इसके अलावा कपिल का कहना है कि अगर दिलीप पांडेय या आप के अन्य किसी नेता को ऐसा लगता है कि दिल्ली सरकार उनकी बात नहीं सुन रही है तो वे लोग भी अनशन में शामिल हो सकते हैं। आपको बता दें कि सोनिया विहार और घोंडा की जमीन को लैंडफिल साइट के लिए आवंटित किए जाने के प्रस्ताव को आप के कुछ नेता और कपिल मिश्रा दोनों ने ही चुनौती दी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App