ताज़ा खबर
 

किशोर ने दस साल के बच्चे की गर्दन काट डाली

पारिवारिक विवाद में एक 17 साल के किशोर ने कथित रूप से अपने पड़ोसी के दस साल के बच्चे का अपहरण किया और बाद में जंगल में ले जाकर चाकू से गर्दन काटकर उसकी हत्या कर दी..

Author कानपुर | December 24, 2015 23:00 pm

पारिवारिक विवाद में एक 17 साल के किशोर ने कथित रूप से अपने पड़ोसी के दस साल के बच्चे का अपहरण किया और बाद में जंगल में ले जाकर चाकू से गर्दन काटकर उसकी हत्या कर दी । पुलिस ने हत्या के आरोपी किशोर को गिरफ्तार कर लिया है। इस बीच गुस्साए लोगों ने आरोपी किशोर के घर में तोड़फोड़ कर आग लगा दी।

पुलिस अधीक्षक ग्रामीण सुरेंद्र तिवारी ने बताया कि रावतपुर के सुल्तानपुरिया गली का निवासी सब्जी विक्रेता शमीम खान का बेटा अर्श खान (10) कक्षा तीन का छात्र था । बुधवार रात बारहवफात की सजावट दिखाने के लिए मोहल्ले का एक अन्य बच्चा सरफराज (17) अर्श को अपने साथ लेकर गया। वह अर्श को लेकर अर्मापुर जंगल गया और वहां सरफराज पर आरोप है कि उसने चाकू से अर्श की गर्दन काट कर शव झाड़ियों में छिपा दिया। बाद में वह घर लौट आया और उसने घरवालों को बताया कि मोटरसाइकिल सवार दो युवक रास्ते में अर्श को अपने साथ लेकर चले गए।

इस बात की जानकारी जब पुलिस को लगी और वह घर पहुंची तो उसने पाया कि सरफराज के पैर में खून के धब्बे लगे हैं। इस पर पुलिस ने उससे कड़ाई से पूछताछ की तो उसने कबूल किया कि उसने अर्श की हत्या कर लाश अर्मापुर के जंगल में झाड़ियों में छिपा दी है। इस पर एसपी तिवारी अन्य पुलिस अधिकारियों के साथ अर्मापुर के जंगल पहुंचे और सरफराज की निशानदेही पर अर्श की लाश रात करीब साढ़े बारह बजे बरामद की। इस बीच जैसे ही यह खबर रात 12 बजे रावतपुर में अर्श के घरवालों को लगी उन्होंने सरफराज के घर में तोड़फोड़ कर आग लगा दी। पुलिस ने बड़ी मुश्किल से आग पर काबू पाया।

एसपी तिवारी ने बताया कि अर्श के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया जाएगा। रात को करीब एक बजे सरफराज को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस उससे पूछताछ कर यह जानने की कोशिश कर रही है कि इस घटना में क्या कोई और भी उसके साथ शामिल था। पुलिस का कहना है कि इस घटना के पीछे दोनों परिवारों के बीच पुरानी रंजिश है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App