ताज़ा खबर
 

कानपुर शूटआउटः विकास दुबे के मददगार थे बीजेपी नेता- पुराने VIDEO से खुले राज

विकास से जुड़े कुछ पुराने वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। ऐसे ही एक वीडियो में दुबे अपने राजनैतिक रसूख की बात कर रहा है और उन्होंने भारतीय जनता पार्टी के दो नेताओं का नाम भी लिया है। जिसके बाद हंगामा मचा हुआ है।

गैंगस्टर विकास दुबे ने एक वीडियो में भारतीय जनता पार्टी के दो नेताओं का नाम लिए थे।

कानपुर शूटआउट में 8 पुलिस वालों की हत्या के बाद फरार हिस्ट्रीशीटर गैंगस्टर विकास दुबे अबतक पुलिस के हाथ नहीं आया है। लेकिन दुबे को लेकर खुलासे पर खुलासे हो रहे हैं। विकास से जुड़े कुछ पुराने वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। ऐसे ही एक वीडियो में दुबे अपने राजनैतिक रसूख की बात कर रहा है और उन्होंने भारतीय जनता पार्टी के दो नेताओं का नाम भी लिया है। जिसके बाद हंगामा मचा हुआ है।

वायरल वीडियो साल 2017 का बताया जा रहा है। एसटीएफ जांच के इस वीडियो में दुबे ने दो राजनेताओं के नाम कबूले हैं। वीडियो में विकास ने भाजपा विधायक अभिजीत सिंह सांगा और बिल्हौर विधानसभा से भाजपा विधायक भगवती प्रसाद सागर का नाम लिया है। भाजपा नेताओं के नाम सामने आने पर सियासी हलचल भी तेज हो गई है, दोनों नेताओं ने संबंधित टीवी चैनल पर आकर अपना पक्ष रखते हुए विकास दुबे से संबंधों से इनकार किया है।

दरअसल, जिला पंचायत चुनाव के दौरान विकास दुबे पर एक शख्स की हत्या का आरोप लगा था। इस मामले में एसटीएफ ने उससे 2017 में पूछताछ की थी। तब यह वीडियो रिकॉर्ड किया गया था। वीडियो में एक शख्स विकास से पूछ रहा है कि ये थाने में जो तुम्हारी एफिडेविट पड़ रही है तो उसके लिए क्या तुम पर कोई दबाव बनाया था? इसपर विकास ने कहा “दबाव जैसा नहीं, लेकिन अपनी प्रयास किया था, अपने लोकल नेता, हमारे यहां के प्रबुद्ध लोग हैं, उनसे किया था।”

इसपर वीडियो बना रहे शख्स ने कहा कि वे नेता कौन हैं? इसका जवाब देते हुए विकास दुबे ने कहा “हमारे लोकल विधायक हैं, भगवती प्रसाद सागर जी हैं और अभिजीत सिंह सांगा जी हैं एमएलए और हमारे ब्लॉक प्रमुख हैं, राजेश कमल जी और जिला पंचायत अध्यक्ष हैं और 3-4 प्रधान लोग भी हैं।” इसके बाद विकास से पूछा गया कि तो इन लोगों ने क्या डराया धमकाया? इसपर गैंगस्टर ने कहा “डराया धमकाया नहीं, इन लोगों ने समझाया था कि देखो अगर ये नहीं हैं और ये फर्जी हैं तो इनकी मदद करो, अगर मुल्जिम हैं तो कई बात नहीं, लेकिन ये फर्जी हैं इसलिए इनके लिए जो हिसाब करना था उनको वो किया।”

बता दें -बिठूर से भाजपा विधायक अभिजीत सिंह सांगा का कहना है कि मेरा न तो कभी उससे संबंध रहा है और न ही मैं उससे कभी मिला हूं। ये अपराधी है और सत्ता का संरक्षण लेने के लिए इस तरह से नाम लेता रहा है, वह ऐसे ही झूठ बोलता है। हमारा कभी कोई संबंध नहीं रहा है। वहीं गवती प्रसाद सागर ने कहा है कि सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा वीडियो वर्ष 2017 का है और उस वर्ष चुनाव में विकास दुबे ने खुलकर बसपा प्रत्याशी का साथ दिया था। बसपा प्रत्याशी के साथ विकास दुबे और एक फिल्मी हीरोइन ने मंधना से बिल्हौर तक रथ भी निकाला था। इसकी वीडियोग्राफी भी उस समय चुनाव आयोग के आदेश पर हुई थी, जो जिला प्रशासन के पास होगी अधिकारी उसे देख सकते हैं।

Next Stories
1 सिंधिया खेमे में किसी को न दें राजस्व विभाग, वरना अपने ट्रस्ट के नाम करा लेंगे सरकारी जमीन- CM शिवराज से कांग्रेसी नेता की अपील
2 कानपुर शूटआउटः पुलिस सेवा में जाकर गैंगस्टरों को उनकी जगह पहुंचाउंगी, एनकाउंटर में शहीद डिप्टी एसपी की बेटी बोली
3 कोरोना के बढ़ते प्रकोप से दहशत में व्यापारी, 6 जुलाई से शाम 5 बजे तक ही बाजार खोलने का लिया फैसला
ये पढ़ा क्या?
X