ताज़ा खबर
 

Kanpur: टेनरियों की बिजली काटने पहुंची टीम, संचालकों ने हाईवे पर लगाया जाम, पुलिस पर किया पथराव

उत्तर प्रदेश नियंत्रण बोर्ड ने कानपुर की 225 टेनरियों की बिजली काटने का आदेश दिया था। इस आदेश पर कानपुर डीएम ने बिजली काटने के लिए 5 टीमों का गठन किया।

टेनरियों की लाइट काटने पहुंची केस्को टीम, फोटो सोर्स- स्थानीय

छह माह से बंद पड़ी टेनरियों से टेनरी मालिक और कर्मचारी परेशान है। उत्तर प्रदेश नियंत्रण बोर्ड ने कानपुर की 225 टेनरियों की बिजली काटने का आदेश दिया था। इस आदेश पर कानपुर डीएम ने बिजली काटने के लिए 5 टीमों का गठन किया। लेकिन जब ये टीमें टेनरियों की बिजली काटने पहुंची तो टेनरी मालिकों ने इसका विरोध किया। इसके बाद सभी टेनरी मालिक इकठ्ठा होकर कानपुर लखनऊ हाईवे जाम कर दिया और टेनरी कर्मचारियों ने पुलिस पर जमकर पथराव किया। इस वाकया में कई वाहन क्षतिग्रस्त हो गए। इस दौरान पुलिस और हंगामा करने वालों के बीच जमकर झड़प हुई। हालांकि आखिर में पुलिस ने जाम खुलवा दिया।

यूपी सरकार ने टेनरी बंद करने का दिया था आदेश: कुंभ मेले से पहले उत्तर प्रदेश सरकार ने टेनरी बंद करने के आदेश दिया था। कुंभ मेला समाप्त हो जाने के बाद भी टेनरी खुलने का आदेश नही दिया गया। जाजमऊ में की टेनरीयां बीते छह माह से बंद पड़ी है। टेनरी मालिक से लेकर कर्मचारियों की कमर टूट चुकी है। कानपुर में लेदर इंड्रस्ट्री 150 वर्षों से कायम है जिसने पूरी दुनिया में अपनी पहचान बनाई है। पहले कानपुर में 400 टेनरीयां थी। जिसमे 378 टेनरी गीले चमड़े का काम करती थी और 13 टेनरी सूखे चमड़े का काम करती थी। वर्तमान में 264 टेनरी कानपुर के जाजमऊ में चल रही है। कानपुर के चमड़े को दुनिया का सबसे अच्छा चमड़ा माना जाता था। विदेशों में भारतीय चमड़े की सबसे डिमांड थी। लेकिन बीते माह से टेनरियों की बंदी का फायदा बांग्लादेश और पाकिस्तान जैसे देश उठा रहे है। जापान ,कोरिया ,चीन और यूरोपीय कंट्री ने अब पाकिस्तान और बांग्लादेश के साथ चमड़े का व्यापर शुरू कर दिया है। कानपुर टेनरियों के मालिको का विदेशी ग्राहकों से संबंध टूट गए है।

National Hindi News, 16 May 2019 LIVE Updates: जानें दिनभर की हर खबर सिर्फ एक क्लिक में

बिजली कर्मचारियों का किया विरोध: गुरुवार (16 मई) को जब टीमें टेनरियों की बिजली काटने पहुंची तो विरोध शुरू हो गया। जाजमऊ में टेनरी कर्मचारी और मालिक महिलाओं और बच्चो के साथ सड़क पर उतर आए। मवेशियों की खालों और चर्बी से लदे ट्रक लगाकर हाईवे जाम कर दिया। हंगामे की सूचना पर दर्जनों थानों की फ़ोर्स मौके पर पहुंच गई। जब पुलिस ने जाम खुलवाने का प्रयास किया तो पुलिस से झड़प हो गई। स्थानीय लोगों ने पुलिस पर पथराव कर दिया ,जब पुलिस ने लाठी लेकर खदेड़ना शुरू किया तब जाकर जाम खुला। हाईवे जाम होने की वजह से हजारों वाहन हाईवे पर खड़े हो गए। चिलचिलाती धूप में राहगीरों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा।

डीएम का क्या है कहना: डीएम विजय विश्वास पंत के मुताबिक इसमें पाल्यूशन नियंत्रण बोर्ड का स्टैंडिंग ऑर्डर है। जिसमे 225 टेनरियों का बिजली कनेक्शन को डिसकनेक्ट किया जाए। जब हम लोगों ने टेनरी संचालकों से वार्ता की थी तो उन्होंने कहा था कि हम टेनरी नही चला रहे हैं। लेकिन डिसकनेक्शन नहीं किया जाए क्योंकि रिकनेक्शन कराने में दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। यह समझौता हुआ था कि आप लोग चोरी छिपकर टेनरी नही चलाएंगे तो हम डिसकनेक्शन को रोक देंगे ।

 

डिसचार्ज वाटर की अधिक मात्रा: डीएम विजय विश्वास पंत ने बताया कि लेकिन ये देखा गया कि पंपिंग स्टेशन और सीटीपी में डिसचार्ज वाटर की अधिक मात्रा देखी गई। जब इसकी चेकिंग कराई गई तो आधा दर्जन से अधिक टेनरी चोरी छिपकर चल रही थी। ये देखा गया कि कुछ टेनरी चल रही थी और हमारे पास डिसकनेक्शन कर ऑर्डर था तो ये निर्णय लिया गया कि टेनरी के बिजली कनेक्शन काटे जाए। आज के हालत को देखते हुए हम रमजान तक डिस्कनेक्शन के काम को रोकते है। धारा 144 लागू है इसके बाद भी हाईवे जाम किया गया है इस विषय में पुलिस कप्तान के साथ बैठक करके निर्णय लिया जाएगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App