ताज़ा खबर
 

Kanpur: घोड़े की मौत पर सियासत, अंतिम यात्रा में उमड़ा जनसैलाब; सपा के 2 विधायक भी हुए शामिल

कानपुर में घोड़े की मौत पर लोगों की भीड़ तो उमड़ी साथ ही साथ सपा के दो विधायक भी घोड़े की अंतिम यात्रा में शामिल हुए।

Author कानपुर | July 4, 2019 10:59 AM
कानपपुर में निकाली गई घोड़े की अंतिम यात्रा फोटो सोर्स- स्थानीय

उत्तर प्रदेश के कानपुर में उस समय एक अजब नजारा देखने को मिला जब एक घोड़े की अंतिम यात्रा में सैकड़ों लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। यही नहीं आम लोगों के साथ जनप्रतिनिधियों का भी जमावड़ा लग गया। सभी ने नम आंखों से घोड़े ‘रुस्तम’ के शव पर पुष्प अर्पित कर नम आंखों से विदाई दी। बताया जा रहा है कि करंट लगने से ‘रुस्तम’ की मौत हुई थी। हालांकि प्रशासन ने 50 हजार रुपए मुआवजा देने का ऐलान किया है लेकिन घोड़े की मौत पर सियासत तेज हो गई है।

National Hindi News, 04 July 2019 LIVE Updates: पढ़ें आज की बड़ी खबरें

क्या है मामला: दरअसल, कर्नलगंज थाना क्षेत्र स्थित चमनगंज इलाके में रहने वाले मोहम्मद हुसैन ने ‘रुस्तम’ नाम का घोड़ा पाल रखा था। चमनगंज इलाके में ही अंडरग्राउंड बिजली लाईन का काम चल रहा था। बुधवार को रूस्तम एक बिजली के खंभे की चपेट में आ गया, जिसकी वजह से उसकी मौत हो गई। जैसे ही रूस्तम की मौत की खबर इलाके में फैली तो लोगों ने घोड़े के मालिक के साथ बिजली विभाग के खिलाफ प्रदर्शन करना शुरू कर दिया। इस दौरान हंगामे की सूचना मिलने पर आर्यनगर विधानसभा से सपा विधायक अमिताभ बाजपेई और सीसामऊ विधानसभा सीट से सपा विधायक इरफान सोलंकी भी मौके पर पहुंच गए। दोनों ने ही रूस्तम की मौत पर दुख जताते हुए केस्को से घोड़े के मालिक को मुआवजा देने की मांग की। जिसके बाद 50 हजार रुपए का मुआवजा देने का ऐलान किया गया।

नम आंखों से दी गई विदाई: ‘रुस्तम’ की अंतिम यात्रा में लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा। इस बीच विधायक अमिताभ बाजपेई और इरफान सोलंकी ने रूस्तम के शव को कफन से ढककर फूल-माला आदि चढ़ाई। बताया जा रहा है कि इरफान सोलंकी ने अपने कंधे पर पड़े गमछे से रूस्तम के चहरे को ढककर उससे अंतिम विदाई दी। इस दौरान प्रदेश की योगी सरकार पर भी निशाना साधा।

प्रदेश की बीजेपी सरकार पर साधा निशाना: सपा विधायक इरफान सोलंकी के मुताबिक यह ऐसी घटना है जिसे सीएम योगी आदित्यनाथ ने सपने में भी नहीं सोचा होगा। उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार नए-नए कारनामों को अंजाम दे रही है। एक बेजुबान घोड़ा बिजली के तार से चिपक कर मर गया, इसके पहले  पिछले साल एक शख्स की भी ऐसे ही मौत हुई थी। लेकिन सरकार को किसी की जान की कोई परवाह नहीं है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App