kanpur Divyang couple Permission sought President to give permission for death, continue fast for 3 days - दिव्यांग दम्पति ने राष्ट्रपति से मांगी इच्छा मृत्यु की अनुमति, 3 दिन से अनशन जारी - Jansatta
ताज़ा खबर
 

दिव्यांग दम्पति ने राष्ट्रपति से मांगी इच्छा मृत्यु की अनुमति, 3 दिन से अनशन जारी

दिव्यांग दम्पति को सगे भतीजे नरेन्द्र ने उनके मकान में कब्जा करते हुए बाहर निकाल दिया। पीड़ित दिव्यांग दम्पति ने मामले की शिकायत नजीराबाद थाने में की। वहीं इंस्पेक्टर ने बताया कि मकान को लेकर आपसी विवाद है पुलिस पर लगाए गए सारे आरोप निराधार हैं शांति बनाए रखने के लिए पुलिस ने 107/116 की कार्रवाई की थी।

इच्छा मृत्यु मांगने वाले दम्पति ने पुलिस पर भी गंभीर आरोप लगाये हैं।

उत्तर प्रदेश के कानपुर जनपद में दिव्यांग चाचा के मकान पर भतीजे ने कब्जा कर उन्हें बेघर कर दिया। न्याय न मिलने पर तीन दिन से घर के बाहर बैठे दिव्यांग दम्पति ने अनशन करते हुए राष्ट्रपति से इच्छा मृत्यु की मांग की है। इच्छा मृत्यु मांगने वाले दम्पति ने पुलिस पर भी गंभीर आरोप लगाये हैं। मिली जानकारी के अनुसार नजीराबाद थानाक्षेत्र के सरोजनी नगर इलाके में स्थित कबाड़ी मार्केट में रहने वाले शिवराम (80) दिव्यांग है। उनकी पत्नी श्यामादेवी (75) भी दिव्यांग हैं।

दिव्यांग दम्पति को सगे भतीजे नरेन्द्र ने उनके मकान में कब्जा करते हुए बाहर निकाल दिया। पीड़ित दिव्यांग दम्पति ने मामले की शिकायत नजीराबाद थाने में की। दबंग भतीजे के खिलाफ कार्रवाई करने के बजाये थानाध्यक्ष निर्मला कुमारी ने दिव्यांग श्यामादेवी को अपमानित किया और आरोप दिव्यांग दम्पति का आरोप है कि उन्होंने उनकी पिटाई भी की। थानाध्यक्ष की इस हरकत का वीडियो पड़ोस में रहने वाली एक छात्रा ने बना लिया। जिस पर एसओ आग बबूला हो गई और छात्रा को शांति भंग मामले में दोषी बनाकर धारा 151 में चालान कर दिया।

पुलिस से दिव्यांग दम्पति के परिवार को न्याय न मिलने पर समाज सेवक ने आगे आकर सूबे के मुख्यमंत्री को मोबाइल से ट्वीट कर पूरे प्रकरण की जानकारी दी। इस बीच पुलिस की कार्यशैली व अपनों के सताये दिव्यांग दम्पति परिवार के साथ घर बाहर अनशन पर बैठ गये। उन्होंने राष्ट्रपति से इच्छामृत्यु मांगी। मामले की जानकारी रविवार को जैसे ही अधिकारियों को हुई तो उनके होश उड़ गए।

एसीएम पुलिस उपाधीक्षक नजीराबाद के साथ मौके पर पहुचे और वृद्ध दिव्यांग दत्पति का हालचाल लिया। उन्होंने उन्हें न्याय का भरोसा दिलाते हुए मामले की जांच नजीराबाद थाने के बजाये फजलगंज थाने को स्थानांतरित करते हुए जल्द पीड़ित दिव्यांग दम्पति को न्याय का भरोसा दिलाया। तो वहीं इंस्पेक्टर ने बताया कि मकान को लेकर आपसी विवाद है पुलिस पर लगाए गए सारे आरोप निराधार हैं शांति बनाए रखने के लिए पुलिस ने 107/116 की कार्रवाई की थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App