ताज़ा खबर
 

Kanpur: सुबह से धूप में बंधा होने से गुस्साया बैल, मालिक को पटक-पटक कर मार डाला

धूप और भूख प्यास से गुस्साए बैल ने मालिक को उठाकर पटकना शुरू कर दिया। जब तक परिवार के सदस्य और ग्रामीण कुछ समझ पाते तब तक उसने अपने मालिक को लहूलुहान कर दिया। लाठी डंडे की मदद से शिवराज यादव को बैल के चंगुल से छुड़ाया गया।

Bullबुजुर्ग की मौत के बाद विलाप करते परिजन, इनसेट- हमलावर बैल (फोटोः स्थानीय)

भीषण धूप और गर्मी का असर इंसानों के साथ-साथ जानवरों पर भी देखने को मिल रहा है। तापमान बढ़ने के साथ-साथ जानवरों में चिड़चिड़ापन देखने को मिल रहा है। शुक्रवार (17 मई) की शाम कानपुर के घाटमपुर स्थित बैजूपुर गांव में तेज धूप से गुस्साए के बैल ने मालिक को ही पटक-पटक कर मार डाला। प्राप्त जानकारी के मुताबिक बैल कई घंटे से धूप में बंधा हुआ था। जब उसका मालिक उसे खूंटे से खोलकर छांव में बांधने लगा तो वो उत्तेजित हो गया। उसने अपने ही मालिक को उठाकर पटकना शुरू कर दिया। बैल ने मालिक को सींघों और पैरों से इतना पीटा की उसकी मौत हो गई।

इसके बाद ग्रामीणों ने लाठी डंडे से उसे दौड़ाया तब जाकर उसने मालिक को छोड़ा। बुजुर्ग को जब डॉक्टर के पास ले जाया गया तो उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। मृतक की पहचान घाटमपुर थाना क्षेत्र स्थित बैजूपुर गांव में रहने वाले किसान शिवराज यादव (85) के रूप में हुई। उनके परिवार में पत्नी चंद्रवती (80) तीन बेटे अमर सिंह, नरेश और सुरेश हैं। शिवराज यादव के घर पर जग्गू नाम का बैल पला हुआ था। उन्होंने खुद जग्गू को पाल कर बड़ा किया था। शिवराज यादव जग्गू के साथ मिलकर खेती का काम करते थे।

शुक्रवार (17 मई) को शिवराज यादव किसी काम से बाजार चले गए थे। उनका बैल जग्गू पूरे दिन धूप में बंधा रहा, भूख और प्यास से जग्गू का गुस्सा सातवें आसमान पर था। बुजुर्ग किसान जब शाम को वापस लौटा तो देखा कि जग्गू धूप में बंधा हुआ है। शिवराज उसे खोल कर छांव में बांधने लगे। धूप और भूख प्यास से गुस्साए बैल ने मालिक को उठाकर पटकना शुरू कर दिया। जब तक परिवार के सदस्य और ग्रामीण कुछ समझ पाते तब तक उसने अपने मालिक को लहूलुहान कर दिया। लाठी डंडे की मदद से शिवराज यादव को बैल के चंगुल से छुड़ाया गया।

old man died बुजुर्ग की मौत के बाद विलाप करते परिजन

National Hindi News, 18 May 2019 LIVE Updates: दिनभर की बड़ी खबरों के लिए क्लिक करें

गंभीर हालत में किसान को परिवार के सदस्य अस्पताल ले गए। जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। बुजुर्ग किसान की मौत की खबर जब गांव पहुंची तो परिवार में कोहराम मच गया। घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस ने पूरे मामले को संज्ञान में लिया। वहीं मृतक के परिजनों बुजुर्ग का पोस्टमॉर्टम कराने से इनकार कर दिया है।

पशु चिकित्सक डॉक्टर वीएन साहू के मुताबिक, ‘जानवर अपने मालिक को अच्छी तरह से जानते और पहचानते हैं। पालतू जानवर कभी अपने मालिक पर आक्रामक नहीं होते हैं। गर्मी और धूप की वजह से इंसानों में चिड़चिड़ापन बढ़ जाता है, इसी प्रकार जानवरों में भी चिड़चिड़ापन होता है। जिसकी वजह से ये बैल मालिक पर हमलावर हुआ होगा।’

Next Stories
1 Jammu-Kashmir: अमरनाथ यात्रा के चलते टले विधानसभा चुनाव, अगस्त में हो सकती है वोटिंग
2 Alwar: दोस्तों के साथ मिलकर नाबालिग का रेप करने के आरोपी को पीट-पीटकर मार डाला, हिरासत में पीड़िता के दो रिश्तेदार
3 सिमी पर बैन के खिलाफ उतरा मुस्लिम संगठन, आतंकवादी हमले की जांच पर उठाए सवाल
आज का राशिफल
X