Kanjarbhat Group thrashes Youths fighting Virginity Test for brides during Marriages in Pune - सुहागरात पर दुल्हन का वर्जिनिटी टेस्ट: विरोध करने वाले शादी में पहुंचे तो जमकर पीटा - Jansatta
ताज़ा खबर
 

सुहागरात पर दुल्हन का वर्जिनिटी टेस्ट: विरोध करने वाले शादी में पहुंचे तो जमकर पीटा

यर्वदा के भटनगर में कंजरभट नाम का समुदाय रहता है। दुल्हनों की सुहागरात पर वर्जिनिटी टेस्ट करने की परंपरा इस समुदाय में काफी सालों से प्रचलित है। परंपरा के तहत गांव की पंचायत दुल्हा दुल्हन को सुहागरात पर सफेद चादर देती है। फिर सभी लोग दुल्हा-दुल्हन के कमरे के बाहर इंतजार करते हैं।

‘स्टॉप द वी’ के सदस्यों की पिटाई के बाद सोमवार को यर्वदा स्थित भट नगर में सुरक्षा-बल मुस्तैद रहा। (एक्सप्रेस फोटोः रालेश स्टीफन)

सुहागरात पर दुल्हनों के वर्जिनिटी टेस्ट का विरोध करना कुछ युवकों को भारी पड़ा। उन्हीं के समुदाय के लोगों ने इस बात पर उनकी जमकर पिटाई कर दी। यह मामला पुणे के पिंपरी इलाके का है। रविवार रात यहां पर भट नगर में एक शादी हुई थी। कंजरभट समुदाय के कुछ युवक इस दौरान वहां पहुंचे थे। वे सभी ‘स्टॉप द वी रिचुअल’ वॉट्सएप ग्रुप के सदस्य थे, जो सुहागरात पर दुल्हनों की वर्जिनिटी टेस्ट के खिलाफ जागरूकता फैलाता है। फिर क्या था, वे शादी के दौरान वर्जिनिटी टेस्ट को लेकर विरोध कर रहे थे, तभी उन्हीं के समुदाय के तकरीबन 40 लोगों ने उन्हें बुरी तरह पीट दिया। बाद में पीड़ित पक्ष की शिकायत के आधार पर पुलिस ने 40 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है और इस मामले दो गिरफ्तारियों की खबर आई है। बता दें कि यहां कंजरभट नाम का समुदाय रहता है। दुल्हनों की सुहागरात पर वर्जिनिटी टेस्ट करने की परंपरा इस समुदाय में काफी सालों से प्रचलित है। परंपरा के तहत गांव की पंचायत दुल्हा दुल्हन को सुहागरात पर सफेद चादर देती है। फिर सभी लोग दुल्हा-दुल्हन के कमरे के बाहर इंतजार करते है। अगले दिन चादर पर लाल धब्बे पंचायत को मिलते हैं, तो दुल्हन इस टेस्ट में पास कर दी जाती है। अगर चादर पर निशान नहीं मिलते हैं, तब उस पर किसी और संबंध बनाने के आरोप लग जाते हैं। पंचायत के टेस्ट के लिए दुल्हन की सहमति नहीं ली जाती है।

यर्वदा के भट नगर निवासी प्रशांत अंकुश इंद्रेकर (25) ने पिंपरी पुलिस थाने में इस बाबत शिकायत दी है। चूंकि इलाके में हुई शादी के लिए इंद्रेकर के यहां न्यौता आया था तो वह सपरिवार वहां गए थे। उन्होंने बताया, “शादी रात में नौ बजे थी। 10 से साढ़े बजे के बीच समुदाय की पंचायत ने एक बैठक की। उन्होंने इस दौरान दुल्हा और दुल्हन से रुपए मांगने की बात कही। यही नहीं, वहां पर दुल्हन का वर्जिनिटी टेस्ट कराए जाने की बात भी चल रही थी, जिसे वह परंपरा का हिस्सा बता रहे थे।”

इंद्रेकर के अनुसार, “हमने उस वक्त तो विरोध नहीं किया, मगर उन्हें पता था कि मैं और मेरे दोस्त ‘स्टॉप द वी’ के सदस्य हैं। वे इसी बात पर नाराज हो गए और हमसे सवाल जवाब करने लगे। फिर 30-40 युवकों ने मिलकर सौरभ जीतेंद्र मछले (25) और प्रशांत विजय तमाईछिकर (23) पर हमला कर दिया। मैंने बीच-बचाव की कोशिश की तो वे मुझे भी मारने लगे। एक शख्स ने तो हम लोगों को बेल्ट से मारा था। हम इस घटना की निंदा करते हैं।” पीड़ित का कहना है कि घटना के दौरान पिटाई करने वालों में दुल्हन का भाई सन्नी मल्के भी शामिल था। इंद्रेकर पेशे से रियल एस्टेट एजेंट हैं। मछले फर्गुसन कॉलेज के छात्र हैं और तमाईछिकर प्राइवेट सेक्टर में नौकरी करते हैं। पिंपरी पुलिस ने इस बारे में बताया कि उन्होंने दो लोगों को इस मामले में गिरफ्तार किया है, जिनकी पहचान अमोल भट और मधुकर भट के रूप में हुई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App