ताज़ा खबर
 

Lok Sabha Election 2019: दिग्विजय सिंह बोले- अगर सीट राहुल गांधी चुनें तो कमलनाथ का चैलेंज मंजूर

मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ के सुझाव को दिग्विजय सिंह ने मान लिया है। हालांकि उनका कहना है कि वो उस सीट पर चुनाव लड़ने के लिए तैयार है जहां से उनके लीडर राहुल गांधी कहेंगे।

Author Updated: March 19, 2019 11:02 AM
दिग्विजय सिंह और कमलनाथ, फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

दो दिन पहले मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह को मध्य प्रदेश की कांग्रेस के लिए कमजोर सीट पर से चुनाव लड़ने की सलाह दी थी। ऐसे में दिग्विजय सिंह ने उनकी सलाह को मान लिया है और कहा है कि जो भी सीट उनके लीडर राहुल गांधी चुनेंगे वो उससे चुनाव लड़ने के लिए तैयार है।

कमलनाथ को दिया धन्यवाद: कमलनाथ ने सोमवार को एक ट्वीट करते हुए लिखा- धन्यवाद कमलनाथ जी को जिन्होंने मध्य प्रदेश में कंग्रेस की कमजोर सीटों पर लड़ने का आमंत्रण दिया। उन्होंने मुझे इस लायक समझा मैं उनका आभारी हूं।

मेरे लीडर राहुल गांधी: कमलनाथ को धन्यवाद देने के बाद दिग्विजय सिंह ने एक और ट्वीट करते हुए लिखा- मैं राघौगढ़ की जनता की कृपा से 1977 की जनता पार्टी लहर में भी लड़ कर जीत कर आया था। चुनौतियों को स्वीकार करना मेरी आदत है। जहां से भी मेरे नेता राहुल गांधी जी कहेंगे मैं लोक सभा चुनाव लड़ने तैयार हूं। नर्मदे हर।

कमलनाथ का क्या था कहना: दरअसल दिग्विजय सिंह के चुनाव लड़ने की कयास पर कमलनाथ ने मीडिया से बातचीत के दौरान छिंदवाड़ा में कहा था कि हमनें उनसे विनती की हैं कि वो किसी ऐसी सीट से मैदान में उतरे जहां से कांग्रेस पिछले 30 सालों से भी अधिक से नहीं जीती है। भोपाल, इंदौर और विदिशा हमारे लिए सबसे मुश्किल सीटे हैं। इसके साथ ही कमलनाथ ने कहा कि वो किसी भी सीट से चुनाव लड़ सकते हैं। लेकिन कमलनाथ के बयान को देख ऐसा लग रहा है कि वो दिग्विजय को इन तीन सीटों में से किसी एक पर ही उतारना चाहते हैं।

 

जब प्रदेश की राजनीति से दूर हो गए थे दिग्विजय सिंह: गौरतलब है कि 7 दिसंबर 1993 से 8 दिसंबर 2003 तक मध्य प्रदेश में कांग्रेस सरकार थी और उसके मुखिया थे दिग्विजय सिंह। 10 साल तक प्रदेश में सरकार रहने के बाद तीसरी बार सरकार बनाने में विफल होने पर दिग्विजय सिंह ने प्रदेश की राजनीति से किनारा कर लिया था।

(जनसत्ता इनपुट्स के साथ)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 सरकारी नौकरी छोड़कर प्रमोद ने लड़ा था उपचुनाव, जानें गोवा के नए सीएम प्रमोद सावंत के बारे में