ताज़ा खबर
 

‘बलात्कार मामले में किशोर पर चलेगा वयस्क की तरह मुकदमा’

किशोर न्याय बोर्ड ने बलात्कार मामले में एक किशोर पर वयस्क की तरह मुकदमा चलाने का आदेश दिया है।

Author नई दिल्ली | August 18, 2016 5:53 AM
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

किशोर न्याय बोर्ड ने बलात्कार मामले में एक किशोर पर वयस्क की तरह मुकदमा चलाने का आदेश दिया है। किशोर न्याय (बच्चों की देखभाल व संरक्षण) कानून 2015 में संशोधन के बाद से यह पहला आदेश है। इस संशोधन के जरिए बोर्ड को यह इजाजत दी गई है कि वह बच्चों के किए गए जघन्य अपराधों को सत्र न्यायालय भेज सकता है। बोर्ड ने कहा कि आरोपी ने इस अपराध को सतर्कतापूर्वक और सुनियोजित तरीके से अंजाम दिया। किशोर न्याय बोर्ड के पीठासीन अधिकारी अरुल वर्मा ने किशोर की तरफ से पेश वकील की इस दलील को खारिज कर दिया कि यह लड़की और किशोर के बीच आपसी सहमति वाला संबंध था। बोर्ड ने कहा कि इस दावे के समर्थन में कोई प्रमाण नहीं है।

इस किशोर की उम्र 17 साल आंकी गई है। बोर्ड ने कहा कि रिकार्ड और पीड़िता के बयान पर गौर करने से यह भी खुलासा होता है कि किशोर ने सतर्कतापूर्वक और सुनियोजित तरीके से इस कथित बलात्कार को अंजाम दिया। पीड़िता को स्कूल से मोटरसाइकिल से लाया और फिर उसे कार से ले जाया गया। इसके बाद शराब खरीदी और फिर फ्लैट में गए। यह घटनाओं का क्रम है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App